blogid : 7629 postid : 1326192

ये हैं भारत के 7 घातक कमांडो फोर्स, इनके सामने नहीं टिकता है कोई भी दुश्मन

Posted On: 23 Apr, 2017 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आर्मी हर देश का गौरव होती है भारत की आर्मी फोर्स भी भारतीयों के लिए गौरव का एक हिस्सा है. हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर हम अपने सेना की ताकत को देखते हैं, लेकिन आज हम आपको बताएंगे भारत की उन फोर्स के बारे में जो दुनिया के खतरनाक और मशहूर फोर्स में शामिल है.


commando cover


1. मार्कोस फोर्स

मार्कोस के पास करीब 1200 कमांडो हैं, इसका गठन 1987 में किय गया था. यूएस नेवी सील के बाद यह एकलौती ऐसी स्पेशल फोर्स है जो पूरे हथियारों के साथ पानी में भी दुश्मन का मुकाबला कर सकती है.ये इंडियन नेवी की स्पेशल फोर्स होती है.


marcos

2. पैरा कमांडोज फोर्स

मारकोस के बाद नंबर आता है पैरा कमांडोज़ का जो भारतीय सेना की सबसे ज्यादा प्रशिक्षित स्पेशल फोर्स मानी जाती है. इनका गठन 1965 भारत पाक युद्ध के दौरान हुआ था. इसकी खास बात यह है कि पैरा कमांडोज करीब 3 हजार से भी उपर से छलांग लगाने में माहिर है. 1971 और 1991 कारगिल युद्ध के दौरान इसी पैरा कमांडोज ने पाकिस्तान को धूल चटा दी थी. भारतीय आर्मी का यह अहम हिस्सा होते हैं.


Para Commandos



3. घातक फोर्स

यह भारतीय सेना की स्पेशल कंपनी है जो ‘मैन टू मैन असॉल्ट’ के वक्त बटालियन के आगे चलती है. ये दुश्मन के तोपखानों पर हमला करने में माहिर होते हैं. इन्हें दुश्मन के साथ आमने-सामने की लड़ाई लड़नी होती है. घातक फोर्स के जवान इतने ताकतवर होते हैं कि एक-एक जवान 20 लोगों पर भारी पड़ सकता है.



Ghatak Force



4. गरुड़ कमांडो फोर्स

यह भारतीय वायु सेना की टुकड़ी में रहते है जिसमें करीब 2 हजार कमांडो होते हैं. अत्याधुनिक हथियारों से लैस इस फोर्स को हवाई क्षेत्र में हमला करने, हवाई आक्रमण करने, स्पेशल कॉम्बैट और रेस्क्यू ऑपरेशन्स के लिए खास तौर पर तैयार किया जाता है.


Garud Commando Force



5. नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी)

नेशनल सिक्योरिटी गार्ड यानी एनएसजी ये भारत की सबसे प्रमुख सिक्‍योरिटी फोर्स है. इसका इस्तेमाल टेररिस्‍ट एक्‍टीविटी को रोकने और राज्‍य में हो रहे इंटरल डिस्‍टरबेंस को संभालने के लिए किया जाता है. इसे आम भाषा में एनएसजी, ब्लैक कैट या कमांडो के नाम से जाना जाता है. 1984 के ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार के बाद इसकी स्‍थापना की गई थी.


नेशनल सिक्योरिटी गार्ड


Read: ये वो दस देशों की सेना है जिनके कामों पर आप भी कर सकते हैं गर्व


6. स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स (एसपीजी)

इस स्‍पेशल फोर्स का गठन 1988 में किया गया था. इसका मुख्‍य काम पीएम, फॉर्मर पीएम और उनकी फैमिली को सुरक्षित रखना होता है. राजीव गांधी की हत्या का बाद इसका गठन किया गया था. इन फोर्स के कमांडो के पास कई अत्‍याधुनिक हथियार होते हैं.


special protection force



7. कोबरा

ये दुनिया की सबसे बेहतर पैरामिलिट्री फोर्स में से एक है. इसका गठन 2008 में हुआ था. इन्हें विशेष गोरिल्ला ट्रेनिंग दी जाती है, जिसके माध्यम से ये भेष बदलने और घात लगाकर हमला करने में माहिर होते हैं.


cobra



राष्ट्रपति और दिल्ली की संसद की सुरक्षा भी इनके जिम्मे है, साथ ही इन्हें नक्सलियों से लोहा लेने के लिए भी भेजा जाता है…Next


Read More:

आर्मी में भर्ती किए जाते थे सिर्फ ‘गे पार्टनर’ इसके पीछे थी ये वजह

सेना में चौंकाने वाले इस सच को महिला सैनिक ने किया उजागर

पाकिस्तान में भूख से लड़ रही है भारत की ये आर्मी



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran