blogid : 7629 postid : 1314178

अश्लील मानकर 90s के इस कार्टून करेक्टर को कर दिया गया बैन, सरकार ने युवाओं के लिए बताया था खतरा

Posted On: 14 Feb, 2017 Infotainment में

Pratima Jaiswal

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अगर कोई आपसे पूछे कि अश्लीलता क्या है? तो शायद आप भी इसकी सटीक परिभाषा नहीं दे पाएंगे. सबके लिए अश्लीलता के दायरे अलग है. जैसे, शहरों में जब आप किसी पुराने दोस्त से मिलते हैं तो गले लगकर अपनी खुशी जाहिर करते हैं, आपको फर्क नहीं पड़ता कि वो दोस्त लड़का है या लड़की, लेकिन छोटे शहरों या ग्रामीण इलाके में लड़के और लड़की को सार्वजनिक रूप से गले मिलते देखना अश्लीलता या अभद्रता माना जाता है. इसी तरह कहीं साड़ी पहनना अश्लीलता है, तो कहीं जीन्स. अश्लीलता की कोई परिभाषा नहीं है, ये तो बस आपका नजरिया और सोच है.


donald duck




बहरहाल, बात करते हैं एक इंसान नहीं बल्कि ऐसे कार्टून केरेक्टर की जो बच्चों के बीच हमेशा से पसंदीदा रहा है, लेकिन एक देश ने उसे अश्लील मानते हुए बैन कर दिया.


अश्लील है ये कार्टून करेक्टर!

फिनलैंड में आपके प्यारे कार्टून करेक्टर डोनाल्ड डक को बैन कर दिया गया था. इसकी वजह थी कि फिनलैंड सरकार का कहना था कि डोनाल्ड पैंट नहीं पहनता, जिससे युवाओं के बीच गलत संदेश जाता है.


donald


1934 में ‘डोनाल्ड डक कॉमिक्स’ दुनिया भर में थी मशहूर

मिकी माउस के बाद डोनाल्ड ऐसा कार्टून करेक्टर था, जिसकी कॉमिक्स दुनिया भर में मशहूर थी. सबसे पहले डोनाल्ड डक करेक्टर को ‘मिकी माउस वीकली’ में जगह दी गई थी. इसके बाद ये करेक्टर बच्चों को पसंद आने लगा. 1934 में डोनाल्ड डक की मैगजीन पब्लिश की गई, जिसे मिकी माउस से भी ज्यादा कामयाबी मिली.



duck 3


अमेरिका में बढ़ता गया डोनाल्ड डक मैगजीन का कारोबार

एक वक्त ऐसा था, बच्चे डोनाल्ड डक मैगजीन पढ़ने के आदी हो चुके थे. अमेरिका के अलावा कई देशों में डोनाल्ड की मैगजीन खूब बिकती थी. 1975 तक अमेरिका ने इस कॉमिक्स से अच्छा कारोबार कर लिया था.


duck 4


शीतयुद्ध के दौरान फिनलैंड पर था दबाव

फिनलैंड, रूस की पूर्वी सीमा से लगा हुआ देश है. माना जाता है शीतयुद्ध के दौरान फिनलैंड पर सोवियत संघ का दबाव था कि वो किसी भी तरह से अमेरिका की मदद ना करे, उस वक्त रूस सोवियत संघ का हिस्सा था. फिनलैंड में सबसे ज्यादा डोनाल्ड डक की मैगजीन बिकती थी, जिससे अमेरिका को काफी मुनाफा हो रहा था. 1976-77 में फिनलैंड सरकार ने फैसला लिया कि डोनाल्ड डक पैंट नहीं पहनता, जिससे वो अश्लील नजर आता है इस वजह से युवाओं पर बुरा असर पड़ता है, ऐसे कार्टून करेक्टर को बैन कर दिया जाना चाहिए.


finland


आलोचना होने पर सरकार ने ऐसे किया बचाव

जब एक कार्टून करेक्टर को बैन किए जाने पर फिनलैंड सरकार की आलोचना की जाने लगी, तो सरकार ने दलील दी ‘कार्टून को अश्लील मानने की वजह से बैन नहीं किया जा रहा बल्कि युवा अमेरिका की इस डोनाल्ड डक कॉमिक्स को खरीदकर अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत कर रहे हैं. उन्हें देश का पैसा ऐसे कामों में लगाना चाहिए, जिससे देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हो सके. इस दावे में कितनी सच्चाई है इसके बारे में कहना तो मुश्किल है, लेकिन इतना जरूर है कि डोनाल्ड अंकल को बैन कर दिया गया था.


donald 2

ये ऐसा पहला मामला नहीं था जब किसी चीज को अश्लील मानकर बैन कर दिया हो, इतिहास ऐसे कई किस्सों से भरा पड़ा है, जब कई चीजों को बैन का शिकार होना पड़ा है…Next


Read More :

नोट बैन से मुश्किल में पड़े ये 7 फिल्मी सितारे, उधार मांगकर चला रहे हैं काम

500-2000 के नए नोट यहां हुए बैन, बताया गया गैरकानूनी

यह है एशिया का गरीब देश, यहां लगाई जाती है लड़कियों की बोली



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran