blogid : 7629 postid : 1298781

दुनिया के सबसे महंगे स्कूलों में शामिल है यह स्कूल, यहां क्रिकेट खेलना है महंगा

Posted On: 11 Dec, 2016 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

स्कूल में शिक्षा लेना शायद हर एक व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है. स्कूल का चुनाव करते समय लोग सबसे अच्छे विकल्प को चुनते हैं जहाँ उनके बच्चे का सर्वागीण विकास हो सके फिर चाहे क्यों न उनको अपनी आय के बाहर ख़र्च करना पड़े . अच्छे स्कूलों के क्रम में बोर्डिंग स्कूल का नाम भी आता है जहाँ का वातावरण आपके बालक के व्यक्तित्व निर्माण में आकस्मिक परिवर्तन लाता है.


school02

इंग्लैंड का ‘चार्टर हाउस’ बोर्डिंग स्कूल, एक ऐतहासिक स्कूल है, जो सदियों से नामी हस्तियों की पसंद रहा है और स्वतंत्र रूप से संचालित होने वाले स्कूलों में से एक है . दुनियाँ के सबसे महँगे स्कूलों की सूचि में शामिल होने के कारण इसका एक अलग ही रुतबा है.


Charterhouse01


चार्टरहाउस की स्थापना  1611 में ‘थॉमस सैटन’ द्वारा की गयी जो लगभग 250 एकड़ के एरिया में बना हुआ है जिसमे पढ़ाई के अलावा खेल तथा रूचि संबंधी विषयों की भी ख़ास व्यवस्था की गयी है. जिसके चलते इसमें को-कैरीक्यूलर (सह-पाठ्यक्रम) एक्टिविटी हेतु 80 क्लब तथा सोसाइटीज़ बनायीं गयी हैं.


charterhouse-school

चार्टर हाउस का विशेष आकर्षण यहाँ स्तिथ क्रिकेट अकेडमी है जहाँ खेलते खेलते कुछ छात्र दुनियाँ के महान क्रिकेट खिलाडियों की सूचि में शामिल हो गए. इंग्लैंड के ‘पीटर मे’ भी इनमे से एक हैं जो कई सालों तक इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कैप्टेन रहे जिनके नेतृत्व में हमेशा इनकी टीम ने जीत हासिल की .


Charterhouse_

इस स्कूल में फुटबॉल, बॉलीबॉल, हॉकी जैसे साधारण खेलों के  साथ थिएटर, रग्बी, स्विमिंग,गोल्फ कराटे जैसे खेलों के लिए भी प्रशिक्षण दिया जाता है. सदियों पुराने इस स्कूल में 1972 तक सिर्फ लड़कों को ही एडमिशन दिया जाता था लेकिन नए नियमों के तहत अब लड़कियों को भी यहाँ प्रवेश लेने की अनुमति मिल चुकी है. चार्टर हाउस स्कूल की खूबसूरत इमारत अपने इतिहास के साथ यहाँ आने वाले हर एक छात्र के भविष्य की कहानी कहती नज़र आती है…Next


Read More:

यह स्कूल बाकी स्कूलों से कुछ स्पेशल है क्योंकि यहां केवल जुड़वा बच्चे आते हैं, जानिए कहां है यह अद्भुत स्कूल

फिल्म फिफ्टी शेड्स देखने के बाद बच्चे ने कुछ ऐसा किया कि होना पड़ा स्कूल से बाहर

सरकारी तंत्र की विफलता, अपनी 24 साल की नौकरी में 23 साल गैरहाजिर रही यह महिला फिर भी सैलरी मिलती रही



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran