blogid : 7629 postid : 1189405

इस समुदाय की महिलाएं 65 साल की उम्र में बनती हैं मां, यहां के लोग जीते हैंं 120 साल तक

Posted On: 13 Jun, 2016 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दुनिया में आपने कई तरह के चमत्कारों के बारे में सुना और पढ़ा होगा, लेकिन आज हम जिनके बारे में आपको बता रहे हैं वो कोई चमत्कार नहीं बल्कि ये ईश्वर की देन है. बहुत कम लोगों को ईश्वर का ऐसा वरदान प्राप्त होता है, जिसकी मदद से वो विज्ञान को भी मात दे सकते हैं. हमारी कहानी ऐसे ही लोगों पर आधारित है जिनकी जिंदगी किसी चमत्कार से कम नहीं.


huu11


उत्तरी पाकिस्तान के पहाड़ी इलाके में हुन्ज़ा नामक समुदाय है जो अपने आप एक बड़ी पहेली है. यहां की लोगों की मानें तो अच्छी जीवनशैली अपनाकर ये लोग 120 साल तक जिंदा रह सकते हैं. उससे भी ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि, आम जिंदगी में लड़कियों को होने वाले मासिक धर्म अमूमन 40 के बाद बंद हो जाते हैं. लेकिन यहां की महिलाएं 65 साल तक मासिक धर्म से होकर गुजरती है.


विज्ञान के लिए यह एक बड़ी चुनौती है कि, आखिर कैसे यह संभव है ?  यहां की कई महिलाओं ने 65 की उम्र में मां बनने का सुख भी पाया हैं. जो अपने आप में किसी चमत्कार से कम नहीं. यहां की कुल आबादी 87 हजार के लगभग है. और यहां के लोगों को बीमारी के नाम पर कुछ नहीं होता है. कुछ लोग तो यहां 160 साल तक भी जिन्दा रहते हैं.



hunzz



Read : जब पाकिस्तान ने ऐसे कराई थी जगजीत सिंह की जासूसी!


इनसे इनकी स्वस्थ जीवनशैली के बारे में पूछने पर यह कहते हैं कि, हम ज्यादा सूखे मेवे, स्थानीय फल, सब्जियां, बाजरा, जौ आदि खाते है. यह ऐसे फलों और सब्जियों का सेवन करते हैं, जिससे बीमारी जल्द नहीं होती. इनकी जीवनशैली यह दर्शाती है कि अगर हम स्वस्थ और सेहतमंद जीवन जिएं तो बीमारी हमें छू भी नहीं सकती… Next


hunza0pkhgh



Read More :

प्रकृति का अजूबा……इस जगह खिलती है महिला के आकार की फूल

जब इंसानी दुनिया में प्रवेश कर ले जिन्न

एलियन की शक्ल के भी इंसान होते थे, यकीन नहीं आता तो पढ़कर देखिए



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran