blogid : 7629 postid : 1143712

पंजाब में इस तरह के घरों में रहने के पीछे ये है राज

Posted On: 8 Mar, 2016 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

उत्तर भारत का राज्य पंजाब अपनी संस्कृति, नृत्य, संगीत और  परिधान के लिए विश्वविख्यात है. लेकिन अधिकतर लोग इस बात को नहीं जानते कि यह राज्य अपने घरों में असाधारण पानी के टैंको के लिए भी दुनियाँ भर में मशहूर है. गांव में खास तौर पर एनआरआईज के घरों की छत पर इस तरह की टंकियां रखी है. घर की छतों पर रखी जाने वाले टैंको से व्यक्ति विशेष की पहचान होती हैं. समृद्ध परिवार अपने घरों पर तरह-तरह के टैंक बनवा रहे हैं. कोई गुलाब का फूल बना खुशहाली का संकेत देता है तो कोई घोड़ा बनाकर रौबदार परिवार का संकेत  देता है. कोई शेर बनाकर अपनी बहादुरी जाहिर करता है तो कोई बाज बनाकर अपनी पहचान को दमदार रूप से प्रस्तुत करता है. पर्यटकों  के लिए ये टैंक आकर्षण और आश्चर्य का केंद्र हो सकते हैं लेकिन यहाँ के लोगों की भावनाए इनसे जुडी हैं.


image3

कंक्रीट से बने ये विशाल वाटर टैंक जिनको पंजाब के लोग अपने घरो की छतों पर पानी जमा करने के लिए बनाते हैं, अनेक आकृतियों में लोगों की पसंद से  डिजाइन किये जाते हैं. हवाई जहाज, पानी का जहाज, ट्रेक्टर, पक्षी, जानवर से लेकर फुटबाल तक की आकृति वाली टंकियां बनायीं जाती हैं . ये खूबसूरत पानी के टैंक पंजाब के प्रत्येक शहर, कस्बे यहाँ तक कि हर छोटे गाँव का हिस्सा है . जो लोग पंजाब नहीं गए उनके लिए ये वाटर टैंक अजूबे से कम नहीं है.


Punjab-water



Read: इस गांव के लोग परिजनों के मरने के बाद छोड़ देते हैं अपना आशियाना


सामान्यत ये टैंक घरो को एक विशेष पहचान देते हैं और प्रतिष्ठा के प्रतीक माने जा सकते हैं परन्तु वास्तव में इनसे घर के सदस्यों की यादें जुडी होती हैं. जिन लोगों के परिवार के सदस्य विदेश जाते हैं ,वो हवाई जहाज की शेप वाले और जो सेना से जुड़े होते हैं वह आर्मी टैंक की शेप की टंकिया बनवाते हैं. लुधियाना के रहने वाले ‘रणजीत मक्कर ‘ जो बचपन में जानवरों से बहुत प्यार करते थे, अपनी पालतू ईगल की याद में ईगल शेप का टैंक उसके लिए श्रद्धांजलि बतौर बनवाया है.


tumblr

जब घरों को नए ढंग से बनाया जाता है तो पुराने टैंको को तोड़ा नहीं जाता बल्कि पुराने टैंको को बारिश के पानी को सरंक्षित करने के लिए प्रयोग किया जाता है और भीषण गर्मी के समय इस पानी को प्रयोग में लाया जाता है. स्थानीय निवासी परमजीत कौर कहती हैं – “हम टैंको को बहुत पैसा ख़र्च करके बनवाते हैं ,पुराने  टैंको को किसी और काम के लिए यूज़ करना, उनको तोड़ने से अधिक अच्छा है ...Next


भूत-प्रेत की वहज से छोड़ा गया था यह गांव, अब पर्यटकों के लिए बना पसंदीदा जगह

घर में घुसते जहाज का क्या है धन से संबंध?

मरे हुए परिजनों के कब्र पर रहते हैं इस गांव के लोग





Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Karan pandit के द्वारा
March 8, 2016

Kainth jehiya news pejyo


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran