blogid : 7629 postid : 1137008

यहां घोसले में परिंदे नहीं रहते हैं इंसान, यह है विश्व का अनोखा गांव

Posted On: 5 Feb, 2016 हास्य व्यंग में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कंदोवन जो स्टोन विलेज के नाम से प्रसिद्ध है, ईरान के तेहरान शहर के पास एक पर्यटन स्थल है. इसका नाम कंदो के बहुवचन जिसका मतलब मधुमक्खियों का घोंसला होता है, पर रखा गया है. वहां बसे लोगों का कहना है कि यह गांव 700 साल से भी ज्यादा पुराना है.


kandova96


किंवदंती के अनुसार, कंदोवन के प्रारंभिक निवासी यहां हमलावर मंगोलों से बचने के लिए आए थे, वे छिपने के लिए ज्वालामुखी चट्टानों में ठिकाना खोदा करते थे और अंततः वहीं उनका स्थायी घर बन जाता था.


kandovan3


अब यह ईरान के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है. चट्टानों को खोदकर बने घर, यहां आने वालों पर्यटकों के लिए अद्भुत नजारा प्रस्तुत करते हैं. कंदोवन के निवासियों का मुख्य पेशा कृषि और पशुपालन है.


इस गांव कि एक खास बात यह है कि यहां बने घर पहाड़ के उपर नहीं है ब्लकि पहाड़ों को खोदकर, उसके अंदर बनाए गए हैं. एक और दिलचस्प पहलू यह है कि चट्टानों के अंदर बने घर, एक ऊर्जा कुशल सामग्री के रूप में कार्य करता है जिससे ये घर सर्दियों के दौरान गर्म और गर्मियों के दौरान ठंडा रहता है. यही कारण है कि यहां के निवासी हीटर या एयर कंडीशनिंग प्रणाली का उपयोग नहीं करते हैं…Next


Read more:

क्यों हैं चीन के इस गांव के लोग दहशत में, क्या सच में इनका अंत समीप आ गया है

एक गाँव जहाँ जुड़वा बच्चों के पैदा होने पर सिर खुजलाते हैं डॉक्टर

भूत-प्रेत की वहज से छोड़ा गया था यह गांव, अब पर्यटकों के लिए बना पसंदीदा जगह


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran