blogid : 7629 postid : 1122280

महाराणा प्रताप ने 30 वर्षों तक इस बादशाह की नींद उड़ाई

Posted On: 12 Dec, 2015 Others में

Chandan Roy

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भारत की भूमि अपने वीर सपुत्र की कहानियों से भरी पड़ी है. इन वीरों ने अपनी मातृभूमि की रक्षा और स्वाभिमान के लिए जान की बाजी तक लगाई है. आज भारत के एक ऐसे सपूत को जानेंगेे जिसने मुग़ल शासक अकबर के नाक में दम कर दिया था. जिनके प्रताप और शौर्य से अकबर के रातों की नींद उड़ गई थी. इस वीर की वीरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इनकी मृत्यु के बाद सबसे बड़े दुश्मन बादशाह अकबर को रोने पर मजबूर कर दिया. वर्तमान इस महावीर की वीरगाथा हमेशा दुहराती है.


maharana-pratap-on-chetak_201559_11261_09_05_2015


इस परमवीर को लोग महाराणा प्रताप के नाम से जानते हैं. 1576 में हल्दीघाटी में महाराणा प्रताप और अकबर के बीच एक ऐसा युद्ध हुआ, जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए अमर हो गया है. महाराणा प्रताप ने अपने 20000 सैनिकों के साथ मुगल बादशाह अकबर की 85000 सैनिकों वाली विशाल सेना का सामना किया. मुग़ल के विशाल सेना ने 30 वर्षों तक लगातार युद्ध किया परन्तु महाराणा प्रताप को परस्त न कर सका.


21.-Maharana-Pratap

Read: तब नहीं घुस पाए थे मोदी के इस गांव में औरंगज़ेब के सैनिक



हल्दीघाटी का युद्ध याद अकबर को जब आ जाता था ,
कहते है अकबर महलों में, सोते-सोते जग जाता था!

प्रताप की युद्ध नीति के दुश्मन भी कायल होते थे. कहा जाता है कि महाराणा प्रताप की मृत्यु पर अकबर की आंखें भी नम हो गई थी. प्रताप युद्ध भूमि से लेकर नैतिकता के धरातल पर भी सबसे अव्वल थे. उन्होंने युद्ध के दौरान दूसरों की पकड़ी गई बेगमों को सम्मानपूर्वक उनके पास वापस भेज दिया था.


Read: सिकंदर के सैनिकों का वंशज है यह गांव, नहीं चलता यहां भारतीय कानून!


प्रताप का चेतक

महाराणा प्रताप का घोड़ा उनका सबसे अच्छा साथी था. युद्ध के दौरान उनका अंतिम समय तक साथ दिया. प्यार से उस घोड़े को सब चेतक कहते थे. एक बार युद्ध भूमि में मुगल सेना महाराणा प्रताप के पीछे लगी थी, तब चेतक प्रताप को अपनी पीठ पर लिए 26 फीट के उस नाले को लांघ गया, जिसे मुगल पार न कर सके.

कहा जाता है कि महाराणा प्रताप का भाला 81 किलो वजन का था और उनके छाती की कवच 72 किलो का था. खुद महाराणा प्रताप का वजन 110 किलो और लम्बाई 7 फीट 5 इंच थी.Next…


Read more:

इन कारणों से पाकिस्तानी महिला फुटबॉल टीम चर्चा में

पाकिस्तान में भूख से लड़ रही है भारत की ये आर्मी

इस अपराजित भारतीय पहलवान के डर से रिंग छोड़ भागा विश्व विजेता



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

satendra singh के द्वारा
December 13, 2015

hindi


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran