blogid : 7629 postid : 1067982

यहां पुलिस की इन महंगी कारों में बैठने के लिए लोग होते हैं खुद गिरफ्तार

Posted On: 27 Aug, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

तेल से होने वाली अकूत आमदनी से जगमगाते दुबई में भव्यता कदम-कदम पर दिखती है. यहां के बच्चे स्कूल जाने के लिए ऐसी आलीशान कारों का इस्तेमाल करते हैं जिसे देख आंखे चौंधिया जाए. ऐसे में दुबई की पुलिस कहां पीछे रहने वाली है. दुबई पुलिस के कारों का नया काफिला इतना भव्य है कि ये कारें जहां से गुजरती हैं लोग खड़े होकर इनकी तस्वीरें उतारने लगते हैं. कुछ लोग तो पुलिसकर्मियों से गुजारिश करने लगते हैं कि उन्हें किसी भी जुर्म में गिरफ्तार कर लिया जाए ताकि उन्हें एक बार इन सुपरफास्ट कारों में बैठने का मौका मिल सके.


image04


इस काफिले में जो सबसे नई कार शामिल की गई है वह है मैक लारेन एमपी4-12C. इसकी कीमत है 280,000 यूएस डॉलर यानी 1 करोड़ 85 लाख रुपए. इससे पहले इस काफिले में लेम्बोर्गिनी, एस्टन मार्टिन, बेंटले, फरारी और शेवरले शामिल हैं. ये सब कारें बड़ी आसानी से 190 मील प्रति घंटे की रफ्तार को पार कर सकती हैं. आप समझ सकते हैं 305 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकने वाली कारों को पछाड़ पाना नामुमकिन है.


image02



Read: आपने नहीं देखा होगा सलमान के इन क्रेजी फैन्स को


यहां सड़क दुर्घटना बेहद आम है. हर 26 घंटे में यहां एक व्यक्ति की मृत्यु सड़क दुर्घटना की वजह से होती है. ज्यादातर मौतें तेज रफ्तार गाड़ियों की वजह से होती है. ऐसे में दुबई पुलिस ने सरकार से मांग की थी की शहर की सड़कों पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए इन सुपरकारों की व्यवस्था की जाए.


image03


हालांकि पुलिस अधिकारियों को इस काफिले में शामिल कारों को चलाने से पहले ड्राइविंग कोर्स करना आवश्यक है. पुलिस अधिकारी मरियम अहमद के पास अपनी व्यक्तिगत टोयटा लैंड क्रूजर कार है. पुलिस के काफिले से उन्हें पेट्रोलिंग के लिए फरारी एफएफ मिली हुई है. अपने अनुभव के बारे में मरियम बताती हैं कि, “मैंने पहली बार कोई स्पोर्ट कार चलाई. जब मुझे इसके लिए चुना गया तो मुझे विश्वास नहीं हुआ. अब मैं जब ड्यूटी पर नहीं रहती हूं तो इस कार की कमी महसूस करती हूं. मेरी लैंड क्रूजर इसके सामने कहीं नहीं टिकती.”



Dubai-police-cars


दुबई की सरकार ने पुलिसकर्मियों को ये सुपरकार तो दे दी हैं लेकिन पुलिसकर्मियों की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि वे खुद स्पीड लिमिट को क्रॉस नहीं कर सकते. कम से कम पुलिस से कानून व्यवस्था की अवहेलना करने की उम्मीद नहीं की जा सकती. Next…


Read more:

देश की पहली मारुति 800 कार अब…

317 अरब 62 करोड़ 72 लाख 50 हजार रुपए की केवल कार कलेक्शन है इनके पास

तूफानी रफ्तार से रिवर्स गियर में गाड़ी चलाता है ये ड्राइवर, सरकार से मिली हुई है परमिट



Tags:                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran