blogid : 7629 postid : 883386

ड्यूटी पर फिसली इनकी नज़रें

Posted On: 11 May, 2015 हास्य व्यंग,Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आईपीएल 21वीं शताब्दी में मन बहलाने के उम्दा आविष्कारों में पहले पायदान पर है. क्या बच्चा, क्या युवा और क्या प्रौढ़! अधिकांश को आईपीएल ने सराबोर कर दिया है. बीस-बीस ओवर के ये मैच अपने “आँख-फाड़ देखूँ” दर्शकों को क्रिकेट के अलावा भी बहुत कुछ देते हैं. पैसा, रोमांच, पेशेवर व्यवसायी- सितारों और उछलते-कूदते अधनंगी महिलाओं के जिस्मों की झलक; क्या कुछ नहीं देता आईपीएल 20-20! जाने क्यों, गुलाल वाले गायक पीयूष मिश्रा के गाने की ये पंक्तियाँ आईपीएल से तारतम्य बिठाने की कोशिश करती लगती हैं-

अधनंगे जिस्मों की देखो, लिपीपुती-सी लगी नुमाइश़ होती है,

लार टपकते चेहरों को कुछ शैतानी करने की ख़्वाहिश होती है.



jpg large


क्रिकेट को फटाफट देखने की ख़ुमारी है ही कुछ ऐसी. कोई इसे देखता है सिर्फ देखने के लिये, कोई देखता है पैसा बढ़ाने के लिये और कोई इसे देखता है ड्यूटी पर होने के कारण. ड्यूटी पर तैनात पुलिसवाले विवश हैं. पुलिसवाले स्टेडियम में तैनात तो होते हैं अपने बैंक ख़ातों को तेजी से बढ़ाने के लिये पसीना बहाने वाले खिलाड़ियों और क्रिकेट के बहाने “सब कुछ” देखने आने वाले आशावान दर्शकों की सुरक्षा के लिये, लेकिन वहाँ खड़े-खड़े उनकी नज़रें भी फिसल ही जाती है.



cheer girls


फिसले भी भला क्यों ना! लिपस्टिक, पाउडर से पुती अधनंगी ज़िस्में रंग-बिरंगे कपड़ों में चौके-छक्के लगने पर जब उछलती-कूदती है तो पहली बार आईपीएल मैच देखने वालों को क्रिकेट मैदान पर गाँव के मेले में “लहरिया लूटअ ए राजा” के तर्ज़ पर आर्केस्ट्रा देखने का भ्रम हो जाता है. चौंकन्नी नज़रें ऊब जाती है और घंटों खड़े पैर थक जाते हैं. आख़िर एक सीमा होती है बल्ला भांजने वालों को देखते रहने की?



IPL cheer


हालांकि, इसमें उनका कोई दोष नहीं है. इसमें दोष उन शब्दों का है जो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के निर्देशक ने कुछ साल पहले फरमाया कि, “बिना चीयर गर्ल्स के आईपीएल केवल रणजी ट्रॉफी है.”कलर्ड और थ्री डी के समय में रंगहीन रणजी ट्रॉफी को झेलने का साहस किसी के पास नहीं है. उधर मौसम की लुका-छिपी से किसानों की फसलों पर असर हुआ है लेकिन पैसे, रोमांच, व्यवसाय, की बारिश में सराबोर कर देने वाले आईपीएल ने लोगों को समझा दिया है कि चिंता चिता के समान है. इसलिये कल की चिंता से मुक्त भारतीय अब “खटैक” के भरोसे रहना सीख रहे हैं.Next…..

Read more:

आईपीएल से जुड़ी ऐसी विवादित तस्वीरें जिसे देखकर आप रह जाएंगे दंग

क्रिकेट में ग्लैमर का मिश्रण यहां से शुरू हुआ

कैंसर पालिए आईपीएल जाइए






Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 2.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran