blogid : 7629 postid : 824897

गर्भ में पल रहे बच्चे की ये कैसी 'सेल्फी' ले रही हैं महिलाएं

Posted On: 30 Dec, 2014 Infotainment में

Nityanand Rai

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जन्म से पहले बच्चे के लिंग का पता लगाना कानूनन अपराध है. ऐसा हर देश में लागू है लेकिन फिर भी तकनीक ने हमें इस कदर नासमझ बना दिया है कि हम कुछ भी करने से पहले इसका नतीजा नहीं समझ पाते हैं. कुछ ऐसा ही कर रही हैं यह गर्भवती महिलाएं. अपने गर्भ में पल रहे बच्चे की मोबाइल के जरिए स्कैन करके सेल्फी लेकर सोशल नेटवर्किंग साइट पर डाल रही हैं और अपने दोस्तों से पूछ रही हैं कि ‘बताओ यह लड़की है या लड़का’.



pregnant scan




जी हां, यह कोई मजाक नहीं बल्कि सच्चाई है लेकिन ऐसा हमारे देश भारत में नहीं बल्कि विदेशों में हो रहा है. ये महिलाएं अपने 12 हफ्तों के गर्भ में पल रहे शिशु की तस्वीर स्कैन करके फेसबुक और ट्विटर पर डाल रही हैं और साथ ही अपने दोस्तों को उस अजन्मे शिशु के लिंग को पहचानने का न्योता दे रही हैं.


एक पेरेंटिंग वेबसाइट ‘नेटमम्स’ द्वारा एक शोध किया गया है जिसमें यह पाया गया है कि तीन में से एक महिला इस प्रकार से अपने अजन्मे बच्चे की तस्वीर को सोशल मीडिया पर अपलोड कर रही हैं. इसके अलावा पांच में से एक महिला यदि सोशल मीडिया पर नहीं तो किसी पेरेंटिंग वेबसाइट पर इस प्रकार की फोटो को डाल रही हैं.


Read: ये सेल्फी जो 2014 में लोगों के सिर चढ़ कर बोली



nub theory



नेटमम्स के अनुसार महिलाओं के बीच अपने अजन्मे बच्चे की स्कैन फोटो की सेल्फी लेकर सोशल साइट पर डालने का क्रेज ‘नब थियोरी’ पर आधारित है. इस सिद्धांत में गर्भ में पल रहे अजन्मे बच्चे का गुप्तांग जिस दिशा में हो उससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह लड़का है या लड़की.


नब सिद्धांत के अनुसार यदि शिशु का गुप्तांग ऊपरी दिशा में 30 डिग्री या इससे ज्यादा है तो यह शिशु लड़का है. वहीं दूसरी ओर यदि यह 30 डिग्री से कम है तो यह शिशु लड़की है. नब सिद्धांत के अलावा कुछ लोगों ने इन स्कैन तस्वीरों पर स्कल्ल थियोरी भी आजमायी है.


Read: फेसबुक पर आप भी तो नहीं हुए इस चीज़ के शिकार!


pregnant-shadow


इस सिद्धांत के अनुसार यदि बच्चे की खोपड़ी का आकार चौड़ा है तो यह लड़का है और यदि गोलाकार में है तो यह लड़की है. लेकिन नेटमम्स का कहना है कि इन तस्वीरों में सबसे ज्यादा नब थियोरी का इस्तेमाल किया गया है.


खैर यह तो सब कहने की बाते हैं जो कई बार सच भी हो जाती हैं लेकिन इन महिलाओं में ‘बेबी स्कैन सेल्फी’ का जो शौक सिर पर सवार हो रहा है यह हानिकारक भी साबित हो सकता है. खासतौर पर ऐसे देशों में जहां कन्या भ्रूण हत्या का कहर अपनी चरम पर हो. Next…..


Read more:

गर्भावस्था से जुड़े कुछ भ्रम और उनका समाधान


सावधान ! फेसबुक प्रयोग करने पर चुकाना पड़ सकता है कर


निकला था इंटरनेट पर प्यार ढूंढ़ने पर अफसोस जेब पर चूना लग गया…



Tags:                                               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran