blogid : 7629 postid : 802978

आपके शहर का नाम बदल दिया गया, क्या आप जानते हैं इन बदले हुए नामों का मतलब?

Posted On: 13 Nov, 2014 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

नाम का व्यक्ति और स्थान के अस्तित्व से गहरा संबंध होता है. नाम बदलने के बाद व्यक्ति को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. मसलन शैक्षणिक प्रमाण-पत्र, पासपोर्ट, पहचान-पत्र और बैंक खाता आदि. जरा सोचिए, अगर एक व्यक्ति को नाम बदलने से इतनी समस्याओं का सामना करना पड़ता है तो एक शहर का नाम बदलने पर उसमें रहने वाली आबादी की पहचान बदल जाती है.


हम आपको कुछ ऐसे ही शहरों के नाम बताएँगे जिनका नाम बदल दिया गया है. वैसे तो आज़ादी के बाद सैकड़ों शहरों के नाम बदलें गए हैं लेकिन यहाँ हम आपको कुछ महत्तवपूर्ण शहरों के बारे में बताएँगे. हो सकता है, आप इनमें से किसी एक से जुड़े हों!


कैलकटा से कोलकाता



Calcutta



कुछ वृद्ध बताते हैं कि गुलामी के समय एक अंग्रेज भटकते-भटकते बंगाल पहुँच गया. वहाँ उसने एक घसियारिन से शहर का नाम पूछा तो उसने जवाब में कलकत्ता कहा. उच्चारण के अंतर के कारण अंग्रेज ने इसे कैलकटा कहना शुरू कर दिया. हालांकि, कलकत्ता को आधिकारिक रूप से वर्ष 2001 से कोलकाता कहा जाने लगा. वैसे कोलकाता वहाँ के एक गाँव कोलिकाता का रूपांतर है जो अंग्रज़ों के शासन के पूर्व भी अस्तित्व में थे.



सिमला से शिमला



Shimla



हिमाचल प्रदेश की राजधानी सिमला ग्रीष्म में अंग्रेज़ों की राजधानी होती थी. माँ काली की अवतार श्यामला देवी के नाम से प्रेरित इस शहर का नाम आज़ादी मिलने के तुरंत बाद ही शिमला रख दिया गया.


Read: शिव लिंग की तरह दिखता है यह धार्मिक शहर, जानिए इसके पीछे क्या है रहस्य


कालीकट से कोझ़िकोड



Calicut



बंदरगाहों का शहर कालीकट भारत की वो भूमि है जहाँ वास्को द गामा आया था. बाद में इसका नाम कोझ़िकोड रख दिया गया जो दो शब्दों कोविल और कोटा से मिलकर बनी है जिसका मतलब क्रमश: महल और किला है. अरब इसे क्वालिकट, तमिल कल्लिकोट्टाई और चीनी इसे कालिफो कहते हैं.



त्रिचिनापोली से तिरूचिरापल्ली



Trichy



यह माना जाता है कि तीन सिरों वाली आकृति त्रिशिरा के नाम पर इस शहर का नाम रखा गया है. वर्ष 1971 में तमिलनाडु के त्रिचि को अधिक भारतीय नाम दिया गया.



बड़ौदा से वडोडरा


Baroda



बड़ौदा का नाम वर्ष 1974 में बदल कर वडोदरा रख दिया गया. बड़ौदा का यह नाम वटपत्रक अथवा बरगद वृक्ष के पत्ते के नाम पर रखा गया.



Read: मेट्रो शहरों में बुजुर्गों के खिलाफ असम्मान और उपेक्षा की प्रवृत्ति



त्रिवेन्द्रम से तिरूअनंतपुरम



Trivandrum



बोलने में सुविधाजनक होने के कारण कई आज भी केरल के इस शहर को त्रिवेन्द्रम कहते हैं जिसका नाम वर्ष 1991 में बदल कर तिरूअनंतपुरम रख दिया गया. मलयालम में इसका मतलब भगवान अनंत का शहर होता है जो श्री पद्मनाभास्वामी मंदिर में स्थापित प्रसिद्ध देवता हैं.



बॉम्बे से मुंबई



Bombay



इस फिल्मी शहर का नाम वर्ष 1996 में बदल कर बॉम्बे से मुंबई रख दिया गया. मुम्बई दो शब्दों मुम्बा और आयी से मिल कर बनी है. वहाँ एक प्रसिद्ध देवी मुम्बा बड़ी प्रसिद्ध है और मराठी में ‘आयी’ का मतलब माँ होता है.



मद्रास से चेन्नई


Chennai



मछली व्यवसाय के लिए प्रसिद्ध तमिलनाडु की राजधानी मद्रास का नाम वर्ष 1996 में बदल कर चेन्नई रख दिया गया. एक औपनिवेशिक नाम होने के कारण मद्रास का नाम बदल कर चेन्नई रखा गया. हालांकि, इसके पीछे कई तर्क दिए जाते रहे हैं. कुछ के अनुसार यह नाम चेन्ना केशव पेरूमल मंदिर से प्रेरित है, जबकि कुछ के अनुसार यह तेलुगू शासक डामरला चेन्नप्पा नयाकुडू के नाम से प्रेरित है.



कोचीन से कोच्चि



Cochin



केरल में बंदरगाहों का शहर कोचीन को वर्ष 1996 में कोच्चि नाम दिया गया. यह प्यारा नाम ‘कोचू अज़ही’ के नाम पर रखा गया है मलयालम में जिसका मतलब ‘छोटी लैगून’ है.



पांडिचेरी से पुडूचेरी



Pondi



कभी फ्रांसीसियों के अधीन रहे पांडिचेरी के इस छोटे शहर का नाम वर्ष 2006 में पुडूचेरी रखा गया. इसको पॉंडी के नाम से भी जाना जाता है, तमिल में इसका मतलब ‘नया शहर’ होता है.



Read more:

जरा हटके जरा बचके, ये है मुंबई मेरी जान

एक खोया हुआ शहर जहां जमीन में गड़े हैं हीरे जवाहरात

करोड़ों की कीमत वाले आलीशान मकान को महज 65 रुपए में खरीद लिया



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran