blogid : 7629 postid : 770738

क्यों चर्च के कहने पर 500 साल पहले दफ्न हुए लोगों के कंकालों को उनकी कब्र से बाहर निकाल लिया गया?

Posted On: 4 Aug, 2014 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पिछले कई सालों से ये कंकाल एक सुरक्षित स्थान पर दफ्न थे लेकिन उन्हें उनकी कब्र से निकाल लिया गया….मौत के बाद भी शरीर को चैन से नहीं रहने दिया गया..क्या ये सब चर्च के इशारों पर हुआ था या फिर इसके पीछे कोई और कारण है?

skeletons



यह घटना है स्वीडन स्थित साउदर्न स्वीडिश चर्च की जिसके समीप एक महिला को 80 कंकाल मिले, जिन्हें देखकर आसपास के लोग बहुत हैरान हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि हम नहीं जानते कि ये शव किसके हैं, इन्हें बाहर किसने और क्यों निकाला लेकिन कम से कम मौत के बाद तो शरीर को सम्मान पाने का हक है और शव के साथ ऐसा व्यवहार असहनीय है. चर्च जाते समय इस महिला को शॉपिंग बैग्स के अंदर मानव अस्थियां नजर आईं, जिनका निरिक्षण करने पर पाया गया कि ये लगभग 80 इंसानों की होंगी. ये बात अभी तक किसी को समझ नहीं आ रही कि इतनी बड़ी संख्या में मानव कंकालों का मिलना किस ओर इशारा कर रहा है? ऐसा कहा जा रहा है कि ये कंकाल वर्ष 2009 से ऐसे ही थैलों में भरकर रखे गए हैं.



Read: क्या आप भी मनाना चाहते हैं ऐसा फनी हॉलिडे प्लान…. सोच लीजिए, कहीं बाद में पछताना ना पड़े!!



किकी कार्लेन नामक इस महिला का कहना है कि “ये बिल्कुल अमानवीय है, कंकालों को थैलों में बंद देखकर मुझे बहुत गुस्सा आया”.

skeletons



चर्च की ओर से यह कहा जा रहा है कि कब्रों में से इन कंकालों को निकालने का कारण वहां होने वाली मरम्मत थी. मरम्मत के काम की वजह से कब्रों को खोदकर उनमें से शवों को बाहर निकाला गया है. स्थानीय स्वीडिश वेबसाइट के अनुसार पुरातत्व वैज्ञानिक लुडविग पेपहल-डुफे का कहना है कि मैं भी उस दल का सदस्य था जिन्होंने कब्रों को खोदकर उसमें से शव बाहर निकाले थे. ये करीब 500 साल पहले दफ्न हुए लोगों के कंकाल हैं. हमने इन्हें कब्र खोदकर बाहर तो निकाल लिया लेकिन अंदर डालने में समय लग रहा है और यह देरी क्यों की जा रही है इसका अंदाजा नहीं है.



Read: सालों से ये रूहें अपनी मौत की वजह तलाश रही हैं….पढ़िए सैंकड़ों लोगों की मौत की दर्दनाक कहानी



हालांकि पेपहल लुडफे का कहना है कि इन थैलों में शवों को भरने का काम उन्होंने या उनकी टीम ने नहीं किया इसलिए वे नहीं जानते कि कंकाल इन थैलों में कैसे आए. इतना ही नहीं पुरातत्व वैज्ञानिक का यह भी कहना है कि इन कंकालों को ‘बोन हाउस’ में संरक्षित कर रखा जाना था पता नहीं क्यों इन्हें थैलॉं में भरकर बाहर फेंक दिया गया. इन कंकालों  को इस हालत में बाहर देखकर स्थानीय लोग थोड़ी दहशत में भी हैं. उनका यह भी मानना है कि कहीं अपने साथ हुए इस दुर्व्यवहार का बदला लेने के लिए इन कंकालों के मालिक उन्हें परेशान ना करने लगे.


Read More:

इस एक शरीर में दो लोग रहते हैं, पढ़िए उस बहन की कहानी जिसका अस्तित्व मर कर भी नहीं मिटा

यहां 1 नहीं बल्कि 25 लोगों की रूह भटकती है..पढ़िए दुनिया के सबसे खतरनाक हॉंटेड प्लेस के बारे में!!

सालों से ये रूहें अपनी मौत की वजह तलाश रही हैं….पढ़िए सैंकड़ों लोगों की मौत की दर्दनाक कहानी



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran