blogid : 7629 postid : 1161

आज है आत्माओं के आने का दिन क्योंकि आज 22 तारीख है, क्यों आती हैं आज ही के दिन आत्माएं?

Posted On: 22 Apr, 2014 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जब भी आपसे कोई यह बोलता होगा कि आत्माएं आती हैं तो शायद आपको विश्वास नहीं होता होगा और सोचते होंगे कि सब फालतू की बातें होती हैं जो बस डराने के लिए की जाती हैं. पर अब आपको यह जानकर हैरानी होगी कि सच में आत्माएं आती हैं और वो भी एक तय की गई तारीख पर आती हैं.


truth of ghosts


एक रात अंधेरे में एक व्यक्ति अचानक कुछ बोलने लगा. लोग समझ नहीं पा रहे थे कि इस व्यक्ति को अचानक क्या हो गया पर फिर सब को यही लगने लगा कि शायद उसके अन्दर आत्मा आ गई है. धीरे-धीरे ऐसा होने लगा कि उस व्यक्ति को भी विश्वास हो गया कि उसके अन्दर आत्मा आती है वो भी सिर्फ 22 तारीख को…..पर क्यों?


हैती के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसवा डूवलियर ने अपने चौदह साल के शासनकाल में तमाम मौकों पर अपनी महिमा का मंडन किया. वो घोर अंधविश्वासी थे और उनका मानना था कि हर महीने की 22 तारीख को उनमें आत्माओं की ताकत आ जाती है.


François Duvalier


प्रेमिका का अगला जन्म जाना जा सकता है


इसलिए वो हर महीने की 22 तारीख को ही अपने आवास से बाहर निकलते थे. उनका दावा था कि 22 नवंबर, 1963 को उन्हीं की आत्माओं की शक्तियों की वजह से अमरीका के राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी की हत्या हुई थी. छह बार उनकी हत्या के लिए प्रयास किये गए थे लेकिन वो हर बार बच निकले थे. वर्ष 1971 में लंबी बीमारी के बाद उनका निधन हो गया.


ऐसी अजीबो गरीब बातों के सिलसिले यहीं खत्म नहीं होते हैं. क्या आप कभी ऐसे लोगों से मिले हैं जो ‘आपसे एकदम से यह कहें कि हमें तुम्हारा जिगर खाना है’.


John F Kennedy

छोटी सी चिड़िया दिल्ली की राज पक्षी !!


सत्तर के दशक में युगांडा के शासक रहे इदी अमीन ने अपने जीवन को भरपूर जिया. खुद को उन्होंने बार-बार सम्मानित किया और पदकों का अम्बार लगा लिया. उन्होंने खुद को फील्ड मार्शल, विक्टोरिया क्रॉस और मिलिट्री क्रॉस से भी सम्मानित किया. उन्हें अपने आप से इतने ज्यादा मोह था कि वो खुद को क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय के समकक्ष या उनसे बड़ा दिखाना चाहते थे.


उनका कहना था कि राष्ट्रमंडल का प्रमुख उन्हें होना चाहिए न कि महारानी को. इस तरह की भी खबरें आती रहीं कि वो अपने राजनीतिक विरोधियों के कटे सर अपने फ्रिज में रखा करते थे. हालांकि ये कभी साबित नहीं हुआ. एक बार उन्होंने रात के भोजन की टेबल पर अपने सलाहकार से कहा था कि मैं तुम्हारा जिगर खाना चाहता हूं, मैं तुम्हारे बच्चों को भी खाना चाहता हूं. वाकई कई बार ये हैरान कर देने वाली बातें बहुत कुछ सोचने पर विवश कर देती हैं.

तो क्या अब कभी नहीं होगा एलियन से सामना

ध्यान से सुनिए हर कब्र कुछ कहती है




Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran