blogid : 7629 postid : 730574

एक अद्भुत रहस्य: हर बार एक्सीडेंट वाली जगह पर कैसे आ जाती थी ये मोटरबाइक

Posted On: 13 Apr, 2014 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जो दिखता नहीं वह भगवान बन जाता है. पर कौन भूत कहलाएगा, कौन भगवान यह अपनी-अपनी किस्मत की बात है. भगवान, आत्मा और साइंस का कमाल मिस्टर इंडिया ये तीनों ही दिखते नहीं. पर भगवान कहलाने का सौभाग्य सिर्फ भगवान को मिला है. हालांकि भगवान को आज तक किसी ने देखा नहीं, उनके किस्से लेकिन सबको पता हैं. कृष्ण, राम आदि इंसान रूपी कई भगवानों को भगवान कहलाने के लिए जाने कितनी लीलाएं करनी पड़ीं तब जाकर वे भगवान कहलाए. इसी तरह भूतों, आत्माओं के होने पर बड़ी बहस होती है, कोई देखने की बात कहता है, कोई कोरी बकवास कहता है. पर मॉडर्न युग में हर चीज मॉडर्नाइज्ड है. मॉडर्न भगवान भी हैं. हमारी यह खबर पढ़कर आप कुछ भी सोचें लेकिन इतना जरूर है कि भूतों, आत्माओं को बड़ी कोफ्त होगी, शायद वे अपनी किस्मत से शिकायत करने लगें. क्यों? आगे तो पढ़िए.


ओम सिंह राठौर एक ऐसे व्यक्ति हैं जो ज्यादा दिन जी तो नहीं सके लेकिन मर कर भगवान बन गए. भगवान की सत्ता पर आपको यकीन हो या न हो लेकिन जोधपुर के बुलेट मंदिर में लोगों को ओम बन्ना (ओम सिंह राठौर) भगवान पर जरूर यकीन है. यकीन इतना कि यहां से गुजरते हुए कोई भी यात्री ओम बन्ना के बुलेट मंदिर में पूजा और प्रसाद चढ़ाए बिना नहीं जाता. अगर जाता है तो एक्सीडेंट की भेंट चढ़ जाता है.


Bullet Baba shrine in Rajasthan

मौत के बाद भी वह हर पल साथ रहती थी

जोधपुर में ओम बन्ना का मंदिर जहां इसे जानने वालों के लिए श्रद्धा का केंद्र बन गया है वहीं इसके बारे में जानने वाले अन्य किसी के लिए उत्सुकता का विषय. ओम बन्ना मंदिर की विशेषता है इसमें पूजा की जाने वाले भगवान की मूर्ति. दरअसल यहां किसी भगवान की मूर्ति की बजाय मोटरसाइकिल रखी हुई है और उसके साथ ही ओम सिंह राठौर की फोटो. मोटरसाइकिल की पूजा के लिए मंदिर के बाहर फूल, कुमकुम, धूप-अगरबत्ती, कपूर, ओम बन्ना की पूजा के लिए खास तौर पर बनाए गए लोकगीतों के वीसीडी, ऑडियो टेप्स, ओम बन्ना की तस्वीरें आदि की कई दुकाने हैं. मोटरसाइकिल के पहिए पर फूल, अगरबत्ती, कपूर, कुमकुम आदि के साथ विधिवत पूजा के साथ इस पर शराब भी चढ़ाई जाती है. जानकर हैरत होगी लेकिन यह सच है. पर यह मंदिर बनने के पीछे की कहानी भी बड़ी अजीब है.


Om Singh Rathore shrine


सन् 1991 की बात है. आज जहां मंदिर बना है उसी जगह से अपनी बुलेट 350 से गुजरते हुए ओम सिंह का एक्सिडेंट हो गया. एक्सिडेंट में ओम सिंह की तत्काल मौत हो गई. लोकल पुलिस मोटरसाइकिल को पुलिस थाने लेकर चली गई लेकिन दूसरे दिन मोटरसाइकिल वापस एक्सिडेंट वाली जगह पहुंच गई. पुलिस को यह किसी की शरारत लगी इसलिए मोटरसाइकिल से पूरी पेट्रोल खाली कर वापस पुलिस स्टेशन ले जाकर चेन से बांधकर रख दिया गया. इसके बावजूद मोटरसाइकिल दूसरे दिन अपने एक्सिडेंट स्पॉट पर ही मिली. पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद भी वह इसे एक्सिडेंट स्पॉट से हटा नहीं सकी. यह खबर तेजी से फैली और एक्सिडेंट स्पॉट पर ही मोटरसाइकिल की पूजा की जाने लगी और ओम सिंह राठौर के नाम पर ओम बन्ना के नाम से यह मंदिर प्रसिद्ध हो गया.


Om Banna Bullet 350

एकमात्र जलराजकुमार इंसानी रूप में धरती पर रहता है !!

स्थानीय लोग ओम बन्ना मंदिर की सिद्धि पर बहुत विश्वास करते हैं. उनके अनुसार ओम बन्ना के मंदिर में पूजा करने से शुभ यात्रा का संयोग बनता है, वहीं यहां से गुजरने वाले जो यात्री ओम बन्ना मंदिर में पूजा नहीं करते उनकी दुर्घटना जरूर होती है. लोगों का मानना है कि ओम सिंह राठौर की आत्मा आज भी एक्सिडेंट स्पॉट पर घूमती है और रात में अपनी बुलेट 350 मोटरसाइकिल पर घूमती है. लोगों के अनुसार यात्रियों द्वारा मंदिर को अनदेखा कर गुजरने पर एक्सिडेंट के कई मामले प्रकाश में आए हैं. इसके बाद ही ओम बन्ना मंदिर की प्रसिद्धि बढने लगी है. बहरहाल सच जो भी हो लेकिन ओम बन्ना के मंदिर के बाहर पूजा का सामान बेचने वाले जरूर उनकी आत्मा को दुआ देते होंगे. अगर आत्माएं होती हों तो जरूर उन्हें ओम सिंह राठौर की किस्मत से जलन होती होगी.


YouTube Preview Image

क्या सचमुच ऐसा भी हो सकता है…

करवा चौथ के दिन चेहरा बदल गया

किसी इंडियन को गुस्सा दिलाना हो तो आजमाएं यह टिप्स



Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

basant raika के द्वारा
April 14, 2014

Jai chotila darbar की Om banna ki jai

name sahil ansri के द्वारा
April 14, 2014

dekho ji bura mat manna hindu dharam achha hai magr koi bhi ghatana pesh hui to uske age sir jhuka lete hai ab jiski maut acident se likhi hai uski maut ho kar rahegi mera kismat par yakeen hai yug ke naye bhagwaano par nai god is one. us god ne jiski mirityu likhi hai use koi nai taal sakta aur agar uski mrityu nai laikhi to use koi bullet wala kya puri qaynaat, duniya bhi use marne par ek ho jaye to phir bhi use nai mar sakti kyunki uski maut nai likhi .

Rajesh Nayar के द्वारा
April 13, 2014

This is Wrong Place Om Banna Is In Pali District Dont Spread Wrong News Research Before Posting


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran