blogid : 7629 postid : 710641

क्या यही है कलियुग के पिशाचों का पता

Posted On: 1 Mar, 2014 Infotainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

वो हजारों साल पहले इस धरती को अलविदा कह गए थे लेकिन अचानक उन्हें फिर देखा जाने लगा. कोई उन्हें कलयुग का पिशाच बोलता है तो कुछ के लिए वह आने वाले खतरे की आहट बन गए हैं……



विलुप्त होने के बाद जिन्हें सिर्फ किस्सों और कहानियों के माध्यम से सुना या देखा जाता रहा हो, जब उनका सामना वास्तविक जीवन में हो जाए तो एक अजीब सी सिहरन तो जहन में उठती ही है, साथ ही अपनी आंखों पर विश्वास करना तक मुश्किल हो जाता है कि क्या वाकई ये सच में हो सकता है?



वैसे भी कभी-कभार हमारे सामने या आसपास कुछ ऐसी घटनाएं हो जाती हैं जो हमें खुद पर यकीन करने तक से रोक देती हैं और रुक-रुक कर एक ही बात जहन में आती है कि ऐसा नहीं हो सकता. जलपरियों से जुड़ी ऐसी ही एक घटना वीडियो के माध्यम से हम आपको दिखाने जा रहे हैं. सुंदर और छरछरी काया वाली जलपरियां या मरमेड को अब तक हम सिर्फ काल्पनिक कहानियों का ही एक हिस्सा समझते आए हैं लेकिन यह वीडियो उनके असल में होने की बात को पुख्ता करता है:



YouTube Preview Image


इससे पहले हिम मानव और मैमथ जैसे जीवों का देखे जाने जैसे दावे किए जा चुके हैं और यह एक ऐसी पहेली बन चुकी है जिसे जितना सुलझाने की सोचो उतना ही ज्यादा उलझती जाती है. हिम मानव या येति को भारत सहित नेपाल और तिब्बत के दुर्गम-निर्जन क्षेत्रों में सैकड़ों वर्षों से लोग देखते आ रहे हैं, लेकिन यह हिम मानव इंसानी दुनिया और उनके पहुंच से बहुत दूर हैं. खतरनाक चेहरे और भयानक आकृति वाले ये हिम मानव लाल रंग की खौफनाक आंखों वाले होते हैं, जिसे देखकर कोई भी डर जाए.



इसके अलावा हाथी जैसा दिखने वाला विशालकाय जीव जिसे मैमथ कहा जाता है, वह भी विलुप्त हो चुका था लेकिन हाल ही में उसे फिर देखा गया और जानकारों का कहना है कि यह बेहद डरावना और खतरनाक प्रकृत्ति का है. मैमथ के विषय में विशेषज्ञों का कहना है कि पृथ्वी पर लगभग 4-5 हजार वर्ष पूर्व हाथी जैसा दिखने वाला लेकिन उससे भी कहीं ज्यादा विशाल एक जानवर रहता था. उसके दांत बहुत अधिक बड़े और घुमावदार होते थे और शरीर पर ऊन की तरह लंबे-लंबे बाल होते थे. आम और प्रचलित भाषा में इस जानवर को मैमथ कहा जाता है. लेकिन मैमथ नाम का यह विशाल और शायद सबसे प्राचीन हाथी आधुनिक सभ्यता की शुरुआत से काफी पहले ही दुनिया से लुप्त हो चुका है.



पारलौकिक शक्तियों पर विश्वास करने वाले लोगों का कहना है कि जलपरियां, येति, हिम मानव जैसे जीवों का फिर से इंसानी दुनिया में अपनी मौजूदगी दर्ज करवाना, धरती पर उनकी आहट महसूस किया जाना किसी बड़ी परेशानी की ओर इशारा कर रहा है.


तुम भटकती रूहों को महसूस कर सकते हो?

रोमांचक मौत का तलबगार है वो

‘जिराफ वुमेन’ के पीछे छिपा है दर्दनाक राज




Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

10 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Pravin के द्वारा
March 2, 2014

ऐसा कोई विडियो नही है, ये लोग सिर्फ Site पे Traffic बढाने के लिए ऐसे झुठे Headlines देते है !

shivchandra के द्वारा
March 2, 2014

Ho sakta hai

MOHIT GUPTA के द्वारा
March 1, 2014

प्लीज सेंड जल पारी विडियो मैं इन्तजार कर रहा हु

विजय पवार के द्वारा
March 1, 2014

आप विडियो के माध्यम से जलपरी की हकीकत बताने वाले थे पर विडियो नहीं मिल रहा है। क्रप्या विडियो उपलब्बध करवाएँ। धन्यवाद

alok kumar mishra के द्वारा
March 1, 2014

marmade ki puri jankari de pls

mohd athar के द्वारा
March 1, 2014

ITS TRUE

RAKESH MISHRA के द्वारा
March 1, 2014

ऒऍ

Umesh के द्वारा
March 1, 2014

नहीं नहीं , उनका पता तो कुछ और है , ये तो वैसे इ विजिटिंग प्लेस का पता है | इंसान एक ऐसा गन्दा जानवर है , जो किसी और जानवर को शान्ति से जीने नहीं दे सकता . अब सारे निकल जाओ इसकी खोज में , फिर बंदी बनाना , फिर मार देना , घटिया इंसान

Amar के द्वारा
March 1, 2014

ैपोू ूपा िहमकगे ूपगे…ग ूपदहुपू ग ोस ुदगु ूद ेाा ो नग्ाद मतगज वहू ोतत ह पोना गे ूांू लद नग्दा ूद जीदना ही मतेगस..ह ी ीहववगेप.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran