blogid : 7629 postid : 425

हॉरर फिल्मों का भूत बाहर आ सकता है

Posted On: 15 Feb, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भूत-प्रेतों और आत्माओं जैसी पारलौकिक ताकतों की थीम पर बनी फिल्में और धारावाहिक देखना अकसर लोगों को पसंद होता है. अंधेरे कमरे या फिर सिनेमा हॉल में बैठकर डरावनी फिल्म देखना एक अच्छा टाइम-पास हो सकता है लेकिन कभी आपने यह सोचा है कि आपका टाइम-पास का यह तरीका कितना खतरनाक साबित हो सकता है.


अभी कुछ दिन पहले दुनिया भर में अपनी शॉर्ट फिल्मों और डॉक्यूमेंट्री के लिए मशहूर सनडांस फेस्टिवल का आयोजन किया गया. इस फेस्टिवल में कई फिल्में दिखाई गईं. लेकिन वीएचएस नाम की एक फिल्म को देखर दर्शकों के होश उड़ गए. यह फिल्म सुपरनैचुरल या पारलौकिक शक्तियों पर आधारित थी. जिसमें कुछ दोस्त एक खास वीडियो फिल्म को देख कर भूत प्रेतों के चक्कर में पड़ जाते हैं. फिल्म के दृश्य इतने ज्यादा भयानक थे कि दर्शकों में मौजूद एक कपल की हालत इतनी ज्यादा खराब हो गई कि कुछ ही समय में उनके लिए एंबुलेंस बुलानी पड़ी.


horrorआपको यह जानकर हैरानी होगी कि फिल्म के दौरान एक हॉल में मौजूद एक दर्शक इतना अधिक डर गया कि उसे उठकर बाहर भागना पड़ा. इससे पहले कि वह बाहर पहुंच पाता वह बीच में ही बेहोश होकर गिर गया. उसके बेहोश होने के कुछ देर बाद उसकी गर्लफ्रेंड की तबियत भी खराब हो गई.


प्रेमी जोड़े के बेहोश होने के बाद आयोजकों ने तुरंत एंबुलेंस बुलाकर उन्हें अस्पताल पहुंचाया. हॉल का मैनेजर, जो उस समय बेहोश हुए लड़के के पास ही बैठा था, का कहना है कि फिल्म के शुरू होने के कुछ देर बाद ही उसका चेहरा पीला पड़ने लगा था.

इस इंसानी भूत का रहस्य क्या है?

लेकिन इस घटना से यह तो प्रमाणित हो जाता है कि डरावनी फिल्में देखना रोमांचक तो हो सकता है लेकिन अगर आप बड़े चाव के साथ अपने दोस्तों या साथी के साथ हॉरर फिल्म देखने का प्लान बनाते हैं तो शायद आप यह अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि डरावनी फिल्म देखना कितना खतरनाक सिद्ध हो सकता है.

बच्चा इंसान का आंखें बिल्ली की!!

इसे मौत का रास्ता कहते हैं

लड़कियां अलर्ट!



Tags:                                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (16 votes, average: 4.19 out of 5)
Loading ... Loading ...

35 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Archana Sharma के द्वारा
February 19, 2014

God has given every being thier own space and so do these spirits also have their own space and world so we should not cross the line of interacting with them. There should be certain limits to what extent we are communicating with them……

amit Kumar Arora के द्वारा
February 17, 2014

koi manne ya name manne lekin maine aatma, sayya inke barrey mai alag alag logo se sunao hai, agar ya keen nahi hota toh kisi se rudhki city ke peer ke barey mai puchne yha inko insaano ke annder se bahar nikala jata hai. my mob. is 9041191148.

sandeep kumar के द्वारा
February 16, 2014

i like it

deepak baba के द्वारा
February 16, 2014

Mujhe to love story ki movie a6i lagati h ……………….darwani movie fake hoti h doston………. meri ashiqei ab tum hi ho……

Ajay Singh के द्वारा
February 16, 2014

I लाइक मूवी

Anshu athur के द्वारा
February 16, 2014

I like most horror muvi,,,,,,,,,,,,,,,,, bhut~bhut jesa kuch ni hota,,,,,,,,,,,,,,,,,ye srf hmara whm hota h jo hame drata h or jo us whm ko hkikat smjhta h wi dar jata h so , “DARNE KA NI,,,, DAR KO BHI DARANE KA”.

sandeep के द्वारा
February 16, 2014

i like darawani movie

ashok के द्वारा
February 16, 2014

horror film kon se thi

Gagan sethi के द्वारा
February 16, 2014

bhoot hote h.

rahul avhad के द्वारा
February 16, 2014

…..

Raja Basumatary के द्वारा
February 16, 2014

i like horror movies

Rohan के द्वारा
February 16, 2014

I saw V/H/S and V/H/S 2 That was too horrible … i think you should watch this.. Grave encounters was good too..

Javanaram के द्वारा
February 16, 2014

bhut palit koi nhi hota vo apne apne man ka dar he

mohan patwal के द्वारा
February 16, 2014

I like horror movie

rizwan के द्वारा
February 15, 2014

i like horror movie

safdar Raza के द्वारा
February 15, 2014

m like news

jitender singh के द्वारा
February 15, 2014

mast

Vaibhav gupta के द्वारा
February 15, 2014

unbilivable lines

Anuj के द्वारा
February 15, 2014

niceद video

sandeep hindore के द्वारा
February 15, 2014

पर मन है देरवाने का

rad के द्वारा
February 15, 2014

aesa hota h bhoot vghra hote h bt ye har jagah nhi phuch sakte ink liye boundry condition hoti h like mandir , which place where pooja hoti rhti h … etc,,,

sushil के द्वारा
February 15, 2014

में जे दरबनी फ़िल्म देखना पसंद करता हु इसीलिए मुझे ज्वाइन कीजिये

    nitin mittal के द्वारा
    February 15, 2014

    पपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपपप

gyani prasad niranjan के द्वारा
February 15, 2014

जो लोग भूतो मैं विश्वास नहीं करते उनके लिए नंबर है 07898048983 दम है तो आजमा लो ?

jai के द्वारा
February 15, 2014

भूत होते ही नही, ये सब बच्चों को डराने की बातें हें.

shakuntla mishra के द्वारा
February 15, 2014

डरावनी मूवी देख कर कोई बेहोश हो सकता है इस लिए नहीं देखना चाहिए ,इसी प्रकार अच्छी मूवी जो हमारे मानसिक स्तर को ऊँचा उठाए परम प्रकाश को दिखाए उसे देखने का भी अच्छा असर मन पर पड़ेगा !हर ऊँची चीज मन पर असर डालती है लेकिन हम नहीं देखते ,सुनते हैं ये सब पुराना और पिछड़ा माना जाता है ,है न अजीब बात !!

cpit के द्वारा
March 13, 2013

aaliya के द्वारा December 31, 2012 i don`t believe this……..atma jesi koi bat ni hoti ye sab faltu he…..only story n movy me hoti he……..not a reality सायद आलिया जी को अभी तक सच में भूतो से पला ही नहीं पडा है

    Chandan Vishwakarma के द्वारा
    April 19, 2013

    Kabhi aap jakar dekhiye bhoot ke kila ko dekhiye tab jakar aapko darr lagega aur 3 baje subah mein bhooto ki taqat 200 guna barh jati hai

    jitender singh के द्वारा
    February 15, 2014

    dar ke age gith hai

aaliya के द्वारा
December 31, 2012

i don`t believe this……..atma jesi koi bat ni hoti ye sab faltu he…..only story n movy me hoti he……..not a reality

    Ahmar के द्वारा
    February 15, 2014

    u r ryt aliya……bhoot wagaira kuch nhi hota real me ye sb bakwaas ki batein hain….

    Tejas के द्वारा
    February 18, 2014

    My dear if you believe on god the you have to believe on devils because if there is some good thing there corresponding bad things also there Bad things are the shadow of good things which is unavoidable.

sneha के द्वारा
February 13, 2012

यह बात तो सही है क्योंकि ऐसी घटना मेरे साथ भी घट चुकी है.

    faisal khan के द्वारा
    February 16, 2014

    Bhoot hote h.

    saurabh के द्वारा
    February 16, 2014

    kya hua apke sath meanbooth deakha kya kabhi


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran