blogid : 7629 postid : 633554

Real Horror Stories in Hindi: रात के अंधेरे में डराता सन्नाटों का शोर

Posted On: 25 Oct, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

kuldharaजैसलमेर शहर से 15 किलोमीटर दूरी पर स्थित एक ऐसा गांव जिसमें अब कोई रहना नहीं चाहता. लोग कहते हैं उस गांव में भूतों और आत्माओं का डेरा है. कहा तो यह भी जाता है कि उस गांव में फैली दहशत के पीछे जो कहानी है वह उससे भी ज्यादा भयानक और खतरनाक है. जिसकी बुरी नजर की वजह से जो भी उस गांव में आता है वह अकाल मौत का शिकार बन जाता है.






यूं तो हम सभी ने कभी ना कभी भूत-प्रेत पिशाचों से जुड़ी कहानियों को पढ़ा या सुना होगा. हो सकता है कुछ ने ऐसी पारलौकिक शक्तियों का सामना भी किया हो लेकिन जो कहानी हम यहां आपको सुनाने जा रहे हैं वह थोड़ी अविश्वस्नीय जरूर है लेकिन स्थानीय लोगों के लिए वह एक बेहद खौफनाक सच है जिसका सामना उन्हें अकसर या कहें शायद रोज ही करना पड़ता है.


मरने के बाद भी जिन्दा है वो


कुलधरा, जैसलमेर से 15 किलोमीटर दूरी पर स्थित एक गांव अपनी दहशत के लिए आसपास कुख्यात बन गया है. आपको यह बात तो पता ही होगी कि जिन स्थानों को पारलौकिक ताकते अपने कब्जे में ले लेती हैं उन स्थानों पर बसने वाले लोग या तो स्वयं उस स्थान को छोड़ कर चले जाते हैं और अगर नहीं जाते तो उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है. कुलधरा भी ऐसा ही एक गांव है जहां पहले ब्राह्मण समुदाय का वास था. ऐसा माना जाता है कि सन 1825 में इस गांव में रहने वाले पालीवाल ब्राह्मण और आसपास के 84 गांवों के लोग रातोंरात अपना घर छोड़कर चले गए थे. सन 1300 से इस गांव में पालीवाल ब्राह्मण की पीढ़ियां रहा करती थी और रक्षाबंधन के एक दिन सभी इस गांव को छोड़कर चले गए. ऐसा माना जाता है इस दिन कुछ ऐसा दर्दनाक घटा था जिसके बाद आज तक भी बहुत से पालीवाल ब्राह्मण रक्षाबंधन का त्यौहार नहीं मनाते.


मौत से छीनकर अपनी जिंदगी दुबारा वापस लाई



villageबड़े पैमाने पर हुए इस पलायन के पीछे की कहानी कुछ यह कहती है.

जैसलमेर के दीवान सलीम सिंह को कुलधरा समेत 84 गांवों के मुखिया की खूबसूरत बेटी से प्यार हो गया था. सलीम सिंह ने गांव के लोगों को यह धमकी दी थी कि अगर उसका विवाह उस लड़की के साथ ना हुआ तो वह करों में और ज्यादा वृद्धि कर देगा. ऐसे हालातों में गांव के मुखिया ने उस स्थान को छोड़कर जाने का निश्चय कर लिया और अपने पीछे यह श्राप छोड़ गए कि जो भी उनके जाने के बाद इस गांव में रहेगा या बसने की कोशिश करेगा वह अपनी जान से हाथ धो देगा. मुखिया और उसकी के जाने के बाद गांव के बहुत से लोग धीरे-धीरे कर के बीमार पड़ने लगे या फिर अकारण ही मृत्यु के ग्रास बनते गए. इस घटना के बाद कुलधरा और आसपास के 84 गांव के लोगों ने अपना-अपना घर छोड़ दिया और तब से लेकर अब तक कोई भी उस गांव में बसने की हिम्मत नहीं जुटा पाया है.


वह गर्भवती औरत आज भी दिखाई देती है वहां

अब सच क्या है यह तो हम नहीं जानते लेकिन शायद ये घटना उस खौफनाक दास्तां को बयान करने के लिए काफी है जिसकी चीखों से आज भी वो गांव कांप उठता है.



भूत-पिशाचों के हाथ का बना खाना खाया है कभी

पागलों की कमी नहीं है दुनिया में

उस डायन का साया




Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (24 votes, average: 3.46 out of 5)
Loading ... Loading ...

26 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

nidhi के द्वारा
July 30, 2016

है मुझे भी ले चलो मुझे बहुत अच्छा लगता ह ऐसे जगह पर जाना .

gourav के द्वारा
May 20, 2015

ये सब पुराने समय की मन से बनाई हुई कहानिया है इनमे सचचाई नहीं है

gaurav के द्वारा
May 6, 2015

मसत है

vishal sinha के द्वारा
February 24, 2015

re maare ko to bilkul v der ni laga bhaya ib to kuch naya likh le,

manish rao के द्वारा
January 23, 2015

mujhe asi jagah jana hai mujhe koi der nhi lagta kisi ko bhi jana hai to mujhe se contect ker mo. no.08262436511

kishan patel के द्वारा
January 22, 2015

i have interest in this subject

prabhash kumar के द्वारा
December 22, 2014

i am intrested to horhor story…..but ye sab kahaniya juhti hai.

Puneet के द्वारा
November 15, 2014

Good entertainment, mare liya ya maine nhi karta ke ya real ha ya nhi ,that solve

Skss के द्वारा
November 10, 2014

Aisa kuch ni hai sb bakwas hai!!!!!

ozasvita के द्वारा
November 8, 2014

मई उस जगह रह चूका हूँ .Its not horror

sarvesh mishra के द्वारा
November 2, 2014

jise ko jana hai asi jaga to mujsa contact kara mera number ha.9067579877 sab mil kar bhoot ki bajga.ok

amir के द्वारा
November 1, 2014

aisi jagah Jane k liye mai hamesha ready hu sala kulbhata ho ya kulfi

Vaibhav के द्वारा
October 18, 2014

Muze us gav me jana he

utpal mandal के द्वारा
October 15, 2014

english

akash li के द्वारा
October 4, 2014

good

jony के द्वारा
September 2, 2014

ैye jhuthi kahaniya mat bataya karo kutto harmjado

monalisa के द्वारा
August 14, 2014

interesting article

sagathiya rahul के द्वारा
July 10, 2014

i m intrested to horror stories…….

    Md Talib के द्वारा
    August 9, 2014

    intersting story

tushar के द्वारा
May 30, 2014

mere ko bhi dekhna hai

shailja dewangan के द्वारा
May 24, 2014

kya ghost real me hote hain……………………… ye to unbelievible lagta ha……………….

    tushar के द्वारा
    May 30, 2014

    yes bhohat suna hai

suraj kumar के द्वारा
May 18, 2014

the best story in the horror

vikram के द्वारा
March 5, 2014

darr

vipin vishwakarma के द्वारा
December 28, 2013

वैरी NICE


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran