blogid : 7629 postid : 1418

उसने अपनी खूबसूरती की कीमत एक वेश्या बनकर चुकाई

Posted On: 13 Jun, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

वह बहुत खूबसूरत थी, उसकी आंखें बड़ी-बड़ी और काया बेहद आकर्षक थी. जो भी उसे देखता था वह अपनी नजरें उस पर से हटा नहीं पाता था. लेकिन उसकी यही खूबसूरती, उसका यही आकर्षण उसके लिए श्राप बन गया. एक आम लड़की की तरह वो भी खुशी-खुशी अपना जीवन जीना चाहती थी लेकिन ऐसा हो नहीं सका. वह अपने दर्द को कभी बयां नहीं कर पाई और अंत में वही हुआ जो उसकी नियति ने उससे करवाया.



यह कहानी है इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला आम्रपाली की. कहते हैं आम्रपाली बेहद खूबसूरत थी, जो उसे एक बार देख ले वह कभी किसी औरत में दिलचस्पी ले ही नहीं पाता था. ऐतिहासिक कथाओं के अनुसार वैशाली नगर के एक दंपत्ति को आम्रपाली एक आम के नीचे मिली थी, जिसकी वजह से उसका नाम आम्रपाली रखा गया था. आज भी आम्रपाली के जैविक माता-पिता की जानकारी किसी को नहीं है.


एक श्राप ने उजाड़ दी भानगढ़ की खुशियां!!


आम्रपाली जैसे-जैसे बड़ी हुई उसका सौंदर्य चरम पर पहुंचता गया जिसकी वजह से वैशाली का हर पुरुष उसे अपनी दुल्हन बनाने के लिए बेताब रहने लगा. उसके माता-पिता के सामने रोज दर्जनों लोग शादी का प्रस्ताव लेकर आते लेकिन उन्हें सभी रिश्तों को सिर्फ इसीलिए ठुकराना पड़ता क्योंकि अगर वह किसी एक से अपनी बेटी की शादी कर देते तो बाकी के लोग उनके दुश्मन बन जाते. शहर के सभी नामी-गिरामी लोग और प्रभावशाली लोग आम्रपाली को अपना बनाना चाहते थे इसीलिए आम्रपाली के परिवार को डर था कि अगर किसी एक के हाथ में आम्रपाली का हाथ सौंपा जाए तो यह उनके लिए खतरनाक सिद्ध हो सकता है. इसीलिए वह किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच पा रहे थे.


जहां मां को तोहफे में मिलते हैं बच्चे!!


आम्रपाली की खूबसूरती और उससे जुड़ी समस्या का हल खोजने के लिए एक दिन वैशाली गणतंत्र में सभा का आयोजन हुआ. इस सभा में मौजूद सभी पुरुष आम्रपाली से विवाह करना चाहते थे जिसकी वजह से कोई निर्णय लिया जाना मुश्किल हो गया था. इस समस्या के समाधान हेतु अलग-अलग विचार प्रस्तुत किए गए लेकिन कोई इस समस्या को सुलझा नहीं पाया.



लेकिन अंत में जो निर्णय लिया गया उसने आम्रपाली की तकदीर को अंधेरी खाइयों में धकेल दिया. सर्वसम्मति के साथ आम्रपाली को नगरवधू यानि वेश्या घोषित कर दिया गया. ऐसा इसीलिए किया गया क्योंकि सभी जन वैशाली के गणतंत्र को बचाकर रखना चाहते थे. लेकिन अगर आम्रपाली को किसी एक को सौंप दिया जाता तो इससे एकता खंडित हो सकती थी. नगर वधू बनने के बाद हर कोई उसे पाने के लिए स्वतंत्र था. इस तरह गणतंत्र के एक निर्णय ने उसे भोग्या बनाकर छोड़ दिया.


एक मंत्र जो पलट देगा टोने-टोटके का वार

जानिए तंत्र विद्या और श्मशान का रिश्ता

कर्ण पिशाचिनी भविष्य नहीं देख सकती




Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.25 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

riva के द्वारा
June 13, 2013

खूबसूरती की इतनी बड़ी कीमत

NEHA के द्वारा
June 13, 2013

समाज ने हमेशा से ही महिलाओं को अपने स्वार्थ पूर्ति का एक जरिया समझा है. यह मात्र उसी का एक उदाहरण है

    Raj के द्वारा
    June 13, 2013

    if you have seen movie Amrapali strory is diiferent as you written.


topic of the week



latest from jagran