blogid : 7629 postid : 1376

True Ghost Stories in Hindi क्या शरीर की तलाश में वो साया भटक रहा है

Posted On: 11 May, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

हम एक ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां हर मोड़ पर इंसानों के भीतर डर और सिहरन पैदा करने के लिए आत्माएं और अन्य शैतानी ताकतें अपना रौब दिखाती रहती हैं. अब आप भले ही इस तथ्य पर यकीन ना करें लेकिन आपकी हर हरकत, हर कदम पर बुरी व अच्छी आत्माओं की नजर रहती है. यह आत्माएं आपको एक पल के लिए भी तन्हा नहीं छोड़तीं, हां कई बार भीड़भाड़ से बचते हुए वह आपको अकेलेपन में ही अपने होने का एहसास करवाती हैं. ऐसी ही एक घटना से हम आज आपको रुबरू करवाने जा रहे हैं जो कोई कहानी नहीं बल्कि एक आम इंसान के साथ घटित एक खौफनाक घटना है.

ऐसे स्थान जहां खतरनाक और दुष्ट आत्माएं कैद हैं

बाद आज से कुछ 5-10 साल पुरानी है. अशोक नाम का एक व्यक्ति जिसका गांव पूर्वी उत्तर-प्रदेश के एक कस्बाई इलाके में था. वैसे तो वो दिल्ली में नौकरी करता था लेकिन घर आए हुए काफी समय बीत चुका था इसीलिए छुट्टी लेकर वह घर आया हुआ था. यह इलाका बेहद सुनसान और घनी झाड़ियों के बीच बसा हुआ था और इन घनी झाड़ियों की बीच शाम के समय अकसर सन्नाटा ही पसरा रहता था.

इंसानी दुनिया का काला हिस्सा हैं यह श्रापित आत्माएं

अशोक को बचपन से ही छत पर सोने की आदत थी और बड़े होने के बाद जब भी वह गांव जाता तो अपने घर की खुली छत पर ही सोता था. लेकिन एक रात छत पर सोना ही उसके लिए महंगा साबित हुआ क्योंकि यह वो रात थी जब उसका सामना एक ऐसे साये से हुआ जो नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से उसके पास तो आया लेकिन अशोक की सूझबूझ की वजह से वह उसका बाल भी बांका नहीं कर सका.

मानो या ना मानो लेकिन ऐसा भी होता है

रात का करीब एक बजा था कि अचानक किसी आवाज ने अशोक की नींद खोल दी. वह अपनी चारपाई से उठ कर छत की रेलिंग के पास जाकर आसपास देखने लगा. उसे अपने घर से थोड़ी ही दूर पर किसी साये को इधर-उधर घूमते हुए देखा, छोटा सा कस्बाई इलाका था उसे लगा शायद कोई अपने घर से बाहर आया होगा. वह वापिस जाकर चारपाई पर लेट गया. उसे फिर कुछ आवाज सुनाई दी लेकिन इस बार आवाज थोड़ी ज्यादा पास से आ रही थी.

वो मानव जाति की तबाही का इंतजार कर रहा है

वह फिर उठा और छत से नीचे देखने लगा. उसे अपने घर के पास ही एक साया दिखाई दिया लेकिन खौफनाक बात यह थी कि वह सिर्फ साया था उसका शरीर नहीं था. इतने में उसे सीढ़ियों पर किसी के बहुत ही तेजी के साथ चढ़ने की आवाज सुनाई दी. 1 मिनट से भी कम समय में वह साया उसकी नजरों के सामने खड़ा था. उसकी शक्ल, हाथ-पैर कुछ भी नहीं था, अगर कुछ था तो वह सिर्फ एक सफेद साया जो धीरे-धीरे अशोक की तरफ बढ़ता जा रहा था.

जब इंसानी दुनिया में प्रवेश कर ले जिन्न

कहते हैं बुराई को काटने के लिए अच्छाई का ही सहारा लिया जाता है इसीलिए उस साये से खुद को बचाने के लिए उस समय अशोक ने कवच कीलक अर्गला मंत्र का जाप करना शुरू कर दिया. वह लगातार 5 मिनट तक यह जाप करता रहा और वह साया उनके पास आता रहा. अचानक ही वह साया अंतरध्यान हो गया. वह हवा था और एक दम से हवा में बहकर गायब हो गया. वह कहां गया, कहां से आया था कुछ पता नहीं चला लेकिन कुछ समय जब तक वह साया अशोक के सामने रहा उन चंद लम्हों ने अशोक के हाथ-पांव फुला दिए थे.

उनकी रूह आज भी वहीं भटक रही है

Tags: Horror stories in hindi, real horror stories in hindi, black magic and miracles, horror, भूत-प्रेत, काला जादू, आत्माओं का सच, बिहार, ghost stories, white house ghost, america ghost story,




Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (16 votes, average: 4.19 out of 5)
Loading ... Loading ...

20 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

sonu के द्वारा
July 1, 2016

ई बकवास hai

shivam के द्वारा
May 19, 2016

I CAN BELIEVE!!!!!!!!!

mahesh baba के द्वारा
September 29, 2014

muje visvash nahi hai is gatna par

anil के द्वारा
September 18, 2014

फदीीदी

raju kumar के द्वारा
August 8, 2014

Shayad darpok bhoot tha

nakshita kumari के द्वारा
July 28, 2014

i also bielieve in these stories .and i also think that this world is full of ghosts!!!!!

kulbhushan के द्वारा
June 4, 2014

क्या ऐसा सच मैं होता है

Gauri shankar के द्वारा
May 17, 2014

अरे गधो भूत ,प्रेत,साया या सब कुछ भी नहीं होता होता हा तो इंसान न भगवन है न भूत अगर है तो माँ देखना चाहता हु. धन्याबाद सभी पाठको का लिये.

    pooja के द्वारा
    June 3, 2014

    i believed this stories and manshi u r disgusting ok.

manshi के द्वारा
May 5, 2014

I LIKE IT

zune के द्वारा
May 1, 2014

i know that the world is ful of goast. and i know there good n bed soul r living but ……………………; just doubdt in this story

Raaj के द्वारा
April 5, 2014

Han ye ho sakata hai kyoki ye insident mere saath bhi huwa hai.

    pooja के द्वारा
    June 3, 2014

    oh really

Varun Verma के द्वारा
February 16, 2014

Pagal. Yar mana wo saya tha. iska mtlb ye thodi uska muh nhi hoga. abhi apne upr type kia hua hai ki wo sidhiyo se jor jor se chal k aa rha tha

sunny shriwastav के द्वारा
January 19, 2014

on belive story of ghost

sunny shriwastav के द्वारा
January 19, 2014

bahaim abhi toa hoga na

nita के द्वारा
December 29, 2013

कहा जाता है कि ऐसा वहम भी होता पर हर चेज़ वहम नहीं हो सकता कुछ सूच भी होता है.

gksgvb के द्वारा
October 13, 2013

वा वा 

    nita के द्वारा
    December 29, 2013

    is baat kai lea va va kyu.

    ekta rajput के द्वारा
    June 9, 2016

    sach m bhoot hote h


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran