blogid : 7629 postid : 1365

Hindi Horror Stories: उनकी रूह आज भी वहीं भटक रही है

Posted On: 25 Apr, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बहुत से ऐसे लोग हैं जो यह स्वीकार करते हैं कि उन्होंने रूहों को देखा है, लेकिन जिन लोगों का सामना कभी किसी मृत आत्मा या भटकती रूह से नहीं हुआ उनके लिए यह सब बचकानी और मनगढ़ंत बातें भी हैं. इसमें गलती उनकी नहीं जो रूहों के होने को नकारते हैं लेकिन कहते हैं ना सच तो सच होता है उसे किसी के स्वीकार करने या नकार देने से फर्क नहीं पड़ता. और सच यही है कि मरने के बाद अतृप्त और असंतुष्ट आत्माएं इंसानी दुनिया में वापस आती हैं और उनके इस दखल से जीते-जागते लोग तो प्रभावित होते ही हैं साथ ही वह मरने के बाद भी अगर उनकी इच्छाएं पूरी नहीं होतीं तो वह खुद भी परेशान रहती हैं.

Real Horror Story in Hindi: वह गर्भवती औरत आज भी दिखाई देती है वहां

आज हम आपको ऐसे ही एक स्थान के बारे में बताएंगे जहां मुर्दे चलते हैं और मृत आत्माएं अपना पहरा जमाए हुई हैं.


सैन डिएगो, कैलिफोर्निया (न्यूयॉर्क) के एक एकांत स्थान पर स्थित वैले हाउस, जिसका निर्माण थॉमस वैले ने 1857 के आसपास करवाया गया था. लेकिन जैसे ही थॉमस के बेटे की मृत्यु हुई इस घर में अचानक ही हादसों का सिलसिला शुरू हो गया. थॉमस का बेटा सिर्फ 18 महीने का ही था जब उसे तेज बुखार ने अपनी चपेट में ले लिया और इसी कारण वह इस दुनिया से चल बसा.

मरने से पहले भी वो सनी लियोन की पोर्न वीडियो देख रहा था

वैले परिवार को इस घर में आने से पहले ही यह लगता था कि कुछ तो है जो बहुत अजीब है, उन्हें इस बात का भी अंदेशा था कि इस मकान को रूहों ने अपनी चपेट में ले रखा है. स्थानीय लोगों ने कई बार उन्हें चेताया भी था कि जिस स्थान पर वो मकान बनाने जा रहे हैं वहां एक व्यक्ति की मौत हुई थी, लेकिन उन्होंने इस बात पर विश्वास नहीं किया और मकान के निर्माण का काम जारी रखा और इसमें रहने भी आ गए. लेकिन उस मृत आदमी की रूह ने उन्हें हर समय परेशान किया.


अगर आप हैंडसम हैं तो आपके साथ भी ऐसा हो सकता है


बेटे की मौत के कुछ समय बाद थॉमस के घर दो बेटों और एक बेटी का जन्म हुआ और कुछ ही समय बाद एक गंभीर बीमारी की चपेट में आकर उसकी पत्नी का देहांत हो गया. कुछ सालों बाद जब उनके बड़े बेटे का तलाक हुआ तो इस सदमे को सहन ना कर पाने के कारण उनके बड़े बेटे ने आत्महत्या कर ली. वहीं उनकी बेटी आलिया, जो शादी के बाद उन्हीं के साथ वैले हाउस में रह रही थी, के पति की भी मौत हो गई. मौत का यह सिलसिला तब तक चलता रहा जब तक परिवार के हर एक सदस्य की मौत नहीं हो गई. वर्ष 1961 तक आते-आते वैले हाउस के हर एक सदस्य की मौत हो चुकी थी.

Real Horror Story in Hindi: भटकती रूह की सच्ची कहानी

यह मकान अपने ही लोगों की मौत का कारण बना इसीलिए कोई भी इस मकान को खरीदने के लिए तैयार नहीं होता.


स्थानीय लोगों का कहना है कि थॉमस को अपने कमरे में चहल कदमी करते हुए देखा जा सकता है. लेकिन सबसे ज्यादा भयावह मंजर वो होता है जब शीशे में आलिया अपने बाल संवारते हुए दिखाई देती है.

भूत-पिशाचों के हाथ का बना खाना खाया है कभी

यूं तो वैले हाउस को अपना सरकार ने अपने कब्जे में ले लिया है लेकिन अभी भी वहां कोई नहीं जाता. छानबीन करने गए एक दल में शामिल व्यक्ति का कहना था कि रात के करीब 1 बजे जब वो और उनकी टीम घर का मुआइना कर रहे थे तब उन्हें हर कमरे में किसी के होने का आभास हुआ. उन्हें एक औरत भी चलती हुई दिखाई दी लेकिन जब उस पर टॉर्च की रोशनी डाली गई तो वह दरवाजे में समा गई.

Real Horror Story in Hindi: भटकती रूह की सच्ची कहानी


लोगों का मानना है कि वैले हाउस में जितने भी लोगों की मौत हुई आज भले ही वह इंसानी शरीर के साथ इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन आत्मा बनकर वह आज भी यहीं भटक रहे हैं.

मरने के बाद भी जिन्दा है वो

मेरा पति मेरे बच्चों का बाप नहीं है

Tags: social issue, horror stories in hindi, horror real stories, real horror stories, hindi real horror stories, हॉरर, भूत-प्रेत की कहानियां, हॉरर शो, सच्ची भूत की कहानियां




Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

jitesh shahjit के द्वारा
April 5, 2014

मुझे भूतो कि कहानियाँ बहुत ही अच्छी लगती है और मुझे भूतों कि कहानियों में बहुत ही जादा इंटरेस्ट है.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran