blogid : 7629 postid : 1333

Real Horror Story in Hindi: आज भी उसकी रूह अपने खजाने की रक्षा करती है

Posted On: 9 Mar, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कहते हैं मिस्र के पिरामिडों में राजाओं और शाही घरानों से जुड़े शवों को सहेज पर रखा गया है. उन्हें मरने के बाद भी हर वो चीज मुहैया करवाई गई है जिसकी जरूरत उन्हें जीवनभर थी. मिस्र के लोगों का मानना है कि मरने के बात भी आत्माएं यही रहती हैं इसीलिए मृत्यु के पश्चात भी उन सभी सामानों की जरूरत पड़ती है.


कैदियों का वहम है या वाकई अफजल की रूह है वो…

शायद आप इन सभी बातों को दकियानूसी करार दें लेकिन जिस सच से हम आपको वाकिफ करवाने जा रहे हैं वह बेहद खौफनाक और डरावना है.


जब जानवर करें रेप तो किसे सुनाएं

आपको लगता होगा कि मिस्र के प्राचीन लोग आत्माओं जैसी फिजूल की धारणाओं पर विश्वास करते थे, जिनका कोई आधार नहीं है लेकिन हम आपको बता दें कि कोई भी धारणा तब तक नहीं बनती जब तक उसका कोई आधार ना हो.



मिस्र के अन्य पिरामिडों के बीच एक ऐसा पिरामिड भी है जिसके अंदर बहुमूल्य खजाना है लेकिन कोई भी आम नागरिक या फिओर विशेषज्ञ भी उस खजाने तक पहुंच नहीं पाया है. यहां तक कि अगर कोई उस खजाने को हाथ लगाने तक की गलती भी करता है तो भी उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है.

क्या है श्रापित कोहिनूर का राज ?


मिस्र के राजा का यह खजाना बहुत बड़ा है. कहते हैं इस खजाने में इतना धन है कि मिस्र के नागरिकों की आने वाली 5 पुश्तें तक इसे मनचाहे ढंग से उड़ाएं तो भी इस खजाने का कुछ भाग बच जाएगा. लेकिन इस खजाने तक जिसने भी पहुंचने की हिम्मत की वह बीमार पड़ गया और बेहद अप्रत्याशित तरीके से मौत के आगोश में समा जाता है.



इस खजाने को अभिमंत्रित और श्रापित कहा जाता है. आमजन तो दूर पिरामिड विशेषज्ञ और पुरातत्व वैज्ञानिक तक भी इस पिरामिड के अंदर नहीं जा पाते. उन्हें अजीब सी घुटन का एहसास होने लगता है.

आखिर क्यों इस नदी का शोर सुनाई नहीं देता


लोगों का कहना है कि शाही राजा बहुत क्रूर और लालची था. वह मानसिक रूप से विक्षिप्त और हिंसक प्रवृति का था. जीवनभर उसने अपनी प्रजा को अपने दास से कम नहीं समझा. यह कुछ एक ऐसे ही था जैसे एक दास को सिर्फ अपने मालिक की सेवा करना होता है और बदले में उसे कुछ भी कहने और मांगने का अधिकार नहीं होता है.



राजा बहुत अमीर था पर वह बिल्कुल नहीं चाहता था कि कोई उसके पैसे पर बुरी नजर डाले या फिर उनसे उनका धन संपत्ति छीन ले. मरते दम तक उसका यह स्वभाव कायम रहा और उसने अपने बच्चों और परिवार को भी अपनी संपत्ति में से एक फूटी कौड़ी ना देने का निश्चय किया.


आखिर क्यों इस नदी का शोर सुनाई नहीं देता

वह तो मर गया लेकिन उसकी दुष्ट आत्मा आज भी उस खजाने की रक्षा करती है. वह पिरामिड के भीतर ही रहता है और हर उस व्यक्ति को श्रापित करता है जो उसके खजाने पर हाथ डालने की कोशिश भी करता है.



यह लोगों का निजी अनुभव है कि जो भी उस खजाने की ओर बढ़ने लगता है उनका अंत समय उनके पास आने लगता है. पिरामिड के अंदर के सिकुड़न भरे रास्ते के अंदर जाना अपने-आप में खतरनाक है लेकिन उस खजाने की मौजूदगी उसे और खतरनाक बना देती है.


किस खतरे की ओर इशारा है धरती पर एलियन का आना !!

पिरामिड विशेषज्ञ भी अभी तक इस गुत्थी को सुलझाने में नाकाम रहे हैं, कई वैज्ञानिक अपनी जान गंवा बैठे हैं तो कई अपंग और लाचार अवस्था में अपने दिन काट रहे हैं.

Read

Real Horror Stories in Hindi – कब्रिस्तान में लगी वो शर्त …

आज भी उस घर में कोई रोता है…..!!

क्या है एडविना-नेहरू के प्रेम का सच !!


Tags: horror stories in hindi, real hindi horror stories, mystery of pyramids, mysterious pyramids, spirit in pyramids, मिस्र पिरामिड, भूत-प्रेत, प्रेत की कहानियां



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

mohit patel के द्वारा
September 26, 2016

it is real icant billive it

vineeta singh के द्वारा
April 19, 2016

This is a real and good history…

bhawana के द्वारा
February 9, 2015

aisa khajana kiस kam ka


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran