blogid : 7629 postid : 1077

अगर जानना चाहते हैं भविष्य तो !!

Posted On: 23 Jul, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

भविष्य में क्या होने वाला है, वह अच्छा होगा या बुरा, हमें क्या लाभ मिलेगा, यह कुछ ऐसे प्रश्न हैं जो प्राय: सभी मनुष्य के जहन में बार-बार उठते तो हैं लेकिन इनका सटीक उत्तर ढूंढ़ पाना किसी के भी बस की बात नहीं है. आने वाले कल में क्या छिपा है यह जान पान भले ही मुश्किल है लेकिन इसके विषय में मानव की जिज्ञासा में कोई कमी नहीं आई है.


mysteriousसापेक्षता का सिद्धांत बना है आधार

विज्ञान के अत्याधिक तरक्की करने के बाद आज भी वैज्ञानिक आने वाले समय में छिपी सच्चाई को समझ पाने में सफलता हासिल नहीं कर पाए हैं. पिछले कई वर्षों से भविष्य यात्रा यानी फ्यूचर विजन के क्षेत्र में रिसर्च कर रहे वैज्ञानिक आज भी किसी ठोस परिणाम तक नहीं पहुंच पाए हैं. हालांकि वैज्ञानिकों द्वारा किए गए प्रयासों और उनकी उपलब्धियों को नकारा नहीं जा सकता क्योंकि भविष्य में जो छिपा है उसे समझ पाना वाकई महुत मुश्किल है. दुनियाभर के वैज्ञानिकों द्वारा किए जा रहे इस शोध कार्य का आधार है सर्वोच्च प्रतिष्ठित वैज्ञानिक आंइस्टाइन के सापेक्षता का सिद्धांत.


योगियों ने खोजा था एक बड़ा रहस्य

उल्लेखनीय है कि जिस रहस्य को वैज्ञानिक आज तक सुलझा नहीं पाए हैं उसका खुलासा भारतीय योगियों ने कई वर्ष पहले ही कर दिया था. आज से हजारों वर्ष पूर्व भारतीय योगियों ने जिस अष्टांग योग की स्थापना की थी अगर कोई व्यक्ति उस मार्ग पर गंभीरता से चलता है तो वह समाधि की सर्वोच्च अवस्था में पहुंचकर भविष्य में होने वाली सभी घटनाओं से गहराई के साथ साक्षात्कार कर सकता है. अपने शरीर को सूक्ष्म बनाकर वह भूतकाल और भविष्य की यात्रा कर सकता है.


जल्द पता चल जाएगा कौन थी मोनालिसा


हालांकि ज्योतिष विद्या के जानकार ग्रह-नक्षत्रों को देखकर, उनकी दिशा और दशा के आधार पर आने वाले समय में व्यक्ति के साथ घटने वाली घटनाओं का अनुमान लगा सकते हैं लेकिन यह मात्र अनुमान है जो सही भी हो सकता है और गलत भी लेकिन ज्ञान के सर्वोच्च शिखर पर पहुंचने के बाद योगी अपने भविष्य से जुड़ी सभी बातों को बारीकी के साथ देख और समझ सकता है. वह आमने-सामने होकर अपने साथ घटी या घटने वाले हादसों का साक्षी बन सकता है. इतना ही नहीं, वह किसी भी समय यह जान सकता है कि उसकी मृत्यु कब और कैसे होगी. वर्षों पहले ही वह अपने साथ होने वाली घटनाओं को जानने के बाद होनी को टालने का प्रयत्न कर सकता है.


उपरोक्त चर्चा के बाद यह कहना गलत नहीं होगा कि वे व्यक्ति जो अपने भविष्य को जानने की जिज्ञासा रखते हैं उनके लिए योग एक बेहतर माध्यम साबित हो सकता है.

जब सपने में आकर देवी ने बताया …..!!!




Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

SANJIT के द्वारा
November 29, 2015

LIKE , MUJHE BHI APANA BHIVISH DAILY DIKHAI DETA HAI KAL KYA HOGA KISHI-KISH SE MILA,KHHA GYA, SUB SAPANE ME IK DIN PAHAKE DIKHATA HAI AUR KABHI TO TURANT AKHO KE SAMANE DIKHETA HAI PAR KYU,..


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran