blogid : 7629 postid : 867

बॉस से बदला लेने की अचूक तरकीब !!

Posted On: 2 May, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

स्कूल में टीचर और ऑफिस में बॉस शायद ही किसी को पसंद आते हों. दोस्तों के साथ मस्ती या फिर सहकर्मियों के साथ गपशप के बीच जब अध्यापक या बॉस हस्तक्षेप करते हैं तो प्राय: सभी का मूड खराब हो जाता है. स्कूल के दिनों में डांट पड़ना एक आम बात है लेकिन जब आपका बॉस अन्य सहकर्मियों के सामने आपको डांटता है या फिर काम का बहाना बनाकर आपकी छुट्टी कैंसल कर देता है तो ऐसे बॉस पर क्रोध आना लाजमी भी है. आपकी हर छोटी गलती, कभी तो गलती ना होने पर भी गुस्सा करना बॉस की पसंदीदा हॉबी बन जाती है.


pillowऑफिस में बॉस की डांट खाने के बाद आप जब घर पहुंचते हैं तो आपको घर का माहौल भी तनावग्रस्त ही लगता है. नहीं तो आप स्वयं उसे तनावग्रस्त बना देते हैं. घरवालों से मनमुटाव और अन्य कामों में मन ना लगना तनाव के पहले लक्षण हैं. यह तनाव ज्यादा ना बढ़ सकें इसके लिए जरूरी है कि आप ऐसे हालातों को नजरअंदाज ही करें. हालांकि यह कहना बहुत आसान है लेकिन इस पर अमल कर पाना शायद उतना ही मुश्किल है.


आत्माओं से बात करने वाली तीन बहनों का हैरतंगेज सच



इसीलिए शंघाई (चीन) के कर्मचारियों ने अपने बॉस से बदला लेने के लिए अनोखी व्यवस्था अपनाई है. वे कर्मचारी जो अपने अधिकारियों द्वारा शोषित महसूस करते हैं और लगातार झेल रहे तनाव से दूर रहने के लिए प्रयासरत हैं उन्होंने एक ऐसी प्रतियोगिता का आयोजन किया है जिसमें हर प्रतियोगी को अपने साथ एक तकिया लाना होता है. इस तकिये पर उस अधिकारी का नाम लिखा होता है जो उस बेचारे कर्मचारी को टॉर्चर कर रहा है. इस तकिये की सार्वजनिक रूप से कर्मचारी द्वारा धुनाई की जाती है.


चीन में इस प्रतियोगिता का आयोजन पिछले पांच सालों से किया जा रहा है. इस साल भी इस प्रतियोगिता में सैकड़ों कर्मचारियों ने हिस्सा लिया और अपने बॉस के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली. आयोजकों का कहना है कि इस तरह के आयोजन कर्मचारियों के तनाव को कम करते हैं.


लंबी और सुंदर गर्दन पाने का अद्भुत तरीका


Read Hindi News




Tags:                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Bhupender S Negi के द्वारा
May 2, 2012

ु् 


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran